menu-icon
India Daily
share--v1

'ये दिल्ली नहीं, प्यासी दिल्ली है मेरे यार...', हैरान कर देंगे पानी के लिए तड़पती राजधानी के ये वीडियो

दिल्ली के ओखला, चाणक्यपुरी और गीता कॉलोनी क्षेत्र गंभीर जल संकट का सामना कर रहे हैं. लोग पानी के लिए तड़प रहे हैं. टैंक्कर आते ही भारी भीड़ लग जाती है. लोग अपनी-अपनी बाल्टी भरने के लिए कतार में खड़े हो जाते हैं.

auth-image
India Daily Live
water Crics
Courtesy: Social Media

भीषण गर्मी के बीच देश की राजधानी दिल्ली में पानी की भारी किल्लत है. कई इलाकों में पीने के पानी की भी दिक्कत है. लोग टैंक्कर की पानी के ऊपर निर्भर हैं. दिल्ली के ओखला, चाणक्यपुरी के संजय कैंप इलाके और गीता कॉलोनी इलाके में पानी की भारी कमी है.  भीषण गर्मी में राष्ट्रीय राजधानी के कई इलाकों में लोग अपनी बाल्टी भरने के लिए कतार में खड़े हैं. लोग अपने दैनिक उपयोग के लिए पानी इकट्ठा करने के लिए पाइप के साथ पानी के टैंकरों पर चढ़ते हुए दिखाई दे रहे हैं.

दिल्ली सरकार टैंकरों के माध्यम से पानी की आपूर्ति कर रही है, लेकिन मांग के हिसाब से पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है. संगम विहार के एक निवासी ने पीटीआई को बताया कि एक टैंकर का किराया 3,000 रुपये है, लेकिन भुगतान करने के बाद भी हमें इसके आने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ता है. 

सुप्रीम कोर्ट पहुंची पानी की लड़ाई

दिल्ली सरकार ने हरियाणा, उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश जैसे पड़ोसी राज्यों से अतिरिक्त जल आपूर्ति की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. जल संकट ने न केवल दिल्ली के संसाधनों पर दबाव डाला है, बल्कि सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) और हरियाणा में शासन करने वाली भारतीय जनता पार्टी के बीच राजनीतिक विवाद को भी जन्म दिया है. आरोप-प्रत्यारोप का खेल तब और बढ़ गया जब दिल्ली भाजपा प्रमुख वीरेंद्र सचदेवा ने आप सरकार पर जल संकट को ठीक से प्रबंधित न करने का आरोप लगाया और आरोप लगाया कि हरियाणा यमुना के पानी की अधिक आपूर्ति कर रहा है.

आतिशी ने क्या कहा? 

दिल्ली सरकार में मंत्री और आतिशी ने कहा कि पिछले 5 दिनों से लगातार पानी की मात्रा घट रही है. अगर 1,050 क्यूसेक पानी हरियाणा द्वारा छोड़ा जा रहा है तो कम से कम 1000 क्यूसेक पानी तो पहुंचेगा? पिछले कुछ दिनों से पानी की मात्रा कम हो रही है. 1 जून को 924 क्यूसेक पहुंचा 2 जून को मात्र 848 क्यूसेक पानी पहुंचा. इस कनाल से दिल्ली के 7 प्लांट में पानी जाता है. अगर यहां पानी नहीं आएगा तो पूरी दिल्ली में त्राहि मच जाएगी.