share--v1

Uttarkashi tunnel Rescue: मजदूरों को किया जाएगा एयरलिफ्ट, सेना का चिनूक हेलिकॉप्टर तैनात, Video

टीम के मजदूरों की लोकेशन के पास पहुंचने के साथ-साथ बाहर रेस्क्यू के बाद के तैयारियां तेज कर दी गई हैं. टनल के बाहर 41 मजदूरों के लिए 41 एंबुलेंस तैनात की गई हैं.

auth-image
Gyanendra Sharma
फॉलो करें:

Uttarkashi tunnel Rescue Army Chinook Helicopter Deployed: उत्तराखंड के उत्तरकाशी में सिल्कयारा सुरंग से बस कुछ ही देर में 41 मजदूरों को बाहर निकालने का काम शुरू होगा. उत्तराखंड समेत केंद्रीय बचाव एजेंसियां राहत कार्य में जुटी हैं. ताजा जानकारी के मुताबिक मजदूरों को टनल से बाहर आते ही उन्हें इलाज के लिए एयरलिफ्ट किया जा सकता है. इसके लिए सेना के चिनूक हेलिकॉप्टर को चिन्यालीसौड़ हवाई पट्टी पर तैनात किया गया है. न्यूज एजेंसी एएनआई की ओर से इसका एक वीडियो शेयर किया गया है. 

रैट-होल माइनिंग के 24 एक्सपर्ट ने किया कमाल  

जानकारी के मुताबिक, 24 अनुभवी रैट-होल माइनिंग एक्सपर्ट की एक टीम ने मैनुअल ड्रिलिंग की है. सुरंग में फंसे मजदूरों की ओर एक नैरो रास्ता बनाया गया है. टीम के मजदूरों की लोकेशन के पास पहुंचने के साथ-साथ बाहर रेस्क्यू के बाद के तैयारियां तेज कर दी गई हैं. टनल के बाहर 41 मजदूरों के लिए 41 एंबुलेंस तैनात की गई हैं. बता दें कि मजदूरों को निकालने के लिए पहले ड्रिलिंग मशीनों का इस्तेमाल हो रहा था, लेकिन उनसे किसी भी प्रकार की सफलता नहीं मिली थी. 

…तो लग जाता एक महीना

मशीनों के फेल होने पर विदेशी रेस्क्यू एक्सपर्ट और भारतीय सेना को अभियान में शामिल किया गया था. इसके बाद रैट होल माइनर्स की टीम को टनल में फंसे मजदूरों तक पहुंचने के लिए बुलाया गया, जिसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन ने तेजी पकड़ी. बता दें कि मशीनों के फेल होने के बाद रेस्क्यू एक्सपर्ट ने कहा था कि अब एक महीने के बाद ही मजदूर बाहर आ पाएंगे. इसी बीच टनल के बाद पूजा पाठ भी शुरू कर दिया गया था.

देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंः-

First Published : 29 November 2023, 01:08 AM IST