menu-icon
India Daily
share--v1

संसद सुरक्षा चूक मामले में बरपा हंगामा! BJP सांसद प्रताप सिम्हा के खिलाफ कार्रवाई पर अड़ा विपक्ष

 संसद सुरक्षा चूक मामले में विपक्ष ने BJP सांसद प्रताप सिम्हा के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर संसद परिसर के अंदर गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया.

auth-image
Avinash Kumar Singh
Ruckus Parliament security lapse case

हाइलाइट्स

  • संसद सुरक्षा चूक मामले में बरपा हंगामा
  • BJP सांसद प्रताप सिम्हा के खिलाफ कार्रवाई पर अड़ा विपक्ष

नई दिल्ली: संसद सुरक्षा चूक मामले में विपक्ष ने BJP सांसद प्रताप सिम्हा के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर संसद परिसर के अंदर गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया. विपक्षी दलों की मांग है कि लोकसभा की दर्शक दीर्घा से सदन में कूदने वाले व्यक्ति को पास दिलाने के लिए सिफारिश करने वाले बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा के खिलाफ कार्रवाई की जाए. विपक्षी सांसद संसद परिसर में हाथों में तख्तियां लिए हुए थे जिन पर लिखा था ''देश जानना चाहता है कि बीजेपी सांसद सिम्हा के खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गई?'' वहीं दूसरी तख्तियों पर लिखा हुआ था "प्रधानमंत्री और गृह मंत्री चुप क्यों हैं? लोकतंत्र खतरे में है." संसद सुरक्षा चूक की घटना को लेकर विपक्षी सांसदों ने गृह मंत्री अमित शाह के बयान की मांग की.

'सवाल पूछना हमारा कर्तव्य...'

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने बड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा "सवाल पूछना हमारा कर्तव्य है. अगर आप हम पर आरोप लगाएंगे और कहेंगे कि हम इस पर राजनीति करते हैं तो इसका मतलब है कि सरकार सामूहिक रूप से आम लोगों की चिंता को नजरअंदाज करने की कोशिश कर रही है. क्या पीएम और गृह मंत्री ने इस पर कोई बयान दिया है? गृह मंत्री अमित शाह और पीएम मोदी को इस मुद्दे की गंभीरता को समझाना चाहिए"

'PM या गृह मंत्री को सदन में आकर दें जानकारी'

संसद की सुरक्षा में सेंध पर कांग्रेस सांसद के सुरेश ने कहा ''हमारी मांग वास्तविक है. यह हमला लोकसभा कक्ष के अंदर हुआ और यह बहुत गंभीर है. प्रधानमंत्री या गृह मंत्री को सदन में आकर जानकारी देनी चाहिए."

'लोकतंत्र के मंदिर पर कोई हमला बर्दाश्त नहीं'

इसी बीच बीजू जनता दल (बीजेडी) के सांसद अमर पटनायक ने कहा कि संसद की सुरक्षा के मुद्दे पर सभी राजनीतिक दलों को मिलकर काम करना चाहिए. अमर पटनायक ने बड़ा बयान जारी करते हुए कहा "यह राजनीति करने का समय नहीं है, बल्कि यह एक साथ काम करने और लोगों को यह संदेश देने का समय है कि भारत एक है, सभी राजनीतिक दल इस पर एक हैं. लोकतंत्र के मंदिर पर कोई हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा."

लोकसभा और राज्यसभा को दोपहर 2 बजे तक स्थगित 

विपक्ष सांसदों के भारी हंगामे के मद्देनजर दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. इससे पहले गुरुवार को 14 सांसदों को निलंबित कर दिया गया था. सदन की कार्यवाही में बाधा डालने के आरोप में संसद के शीतकालीन सत्र से 14 विपक्षी सांसदों को निलंबित किया गया. इसी तमाम घटनाक्रम के बीट दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने गुरुवार को संसद सुरक्षा उल्लंघन मामले में गिरफ्तार सभी चार आरोपियों को सात दिन की हिरासत में भेज दिया. वहीं पांचवें आरोपी ललित झा को भी दिल्ली पुलिस ने गुरुवार देर रात को गिरफ्तार कर लिया.