menu-icon
India Daily
share--v1

राजस्थान में 73 फीसदी वोटिंग के क्या हैं मायने? जानें क्या कहता है बीते 5 चुनावों का वोटिंग ट्रेंड

राजस्थान में हर पांच साल में सरकार बदलने का रिवाज है. इस के नतीजों में रिवाज बरकरार रहेगा या फिर ये रिवाज उत्तराखंड चुनाव की तरह टूट जाएगा, इसके लिए 3 दिसंबर तक का इंतजार करना होगा.

auth-image
राजस्थान में 73 फीसदी वोटिंग के क्या हैं मायने? जानें क्या कहता है बीते 5 चुनावों का वोटिंग ट्रेंड

Rajasthan Assembly Elections 2023 voting trend: राजस्थान में 200 में से 199 विधानसभा सीटों के लिए प्रत्याशियों की किस्मत शनिवार को EVM में कैद हो गई. वोटिंग खत्म होने के बाद चुनाव आयोग ने जानकारी दी कि राज्य की सभी 199 सीटों पर 74.96 प्रतिशत वोटिंग हुई, जबकि डाक मतपत्र और घरेलू मतदान के जरिए 0.83 फीसदी वोटिंग हुई, यानी राजस्थान में कुल वोटिंग 75 फीसदी हुई है. पिछली बार की विधानसभा चुनाव में हुई वोटिंग से तुलना की जाए तो ये 0.9 फीसदी ज्यादा है. 2018 में राज्य में 74.06 फीसदी वोटिंग हुई थी. 

राजस्थान में हर पांच साल में सरकार बदलने का रिवाज है. इस के नतीजों में रिवाज बरकरार रहेगा या फिर ये रिवाज उत्तराखंड चुनाव की तरह टूट जाएगा, इसके लिए 3 दिसंबर तक का इंतजार करना होगा. लेकिन राजस्थान में बीते पांच विधानसभा चुनावों में हुई मतदान के ट्रेंड को देखें तो रिवाज बरकरार दिख रहा है. 

वोटिंग ट्रेंड के मुताबिक, पिछली पांच विधानसभा चुनाव के वोटिंग परसेंटेज के हिसाब से सरकार बदल जाती है. राज्य में अगर वोटिंग फीसदी ज्यादा हुई तो भाजपा की सरकार बनी और मतदान का प्रतिशत कम हुआ तो कांग्रेस ने सरकार बनाई. इस लिहाज से इस बार वोटिंग परसेंटेज ज्यादा है. ट्रेंड के मुताबिक, भाजपा के सरकार बनाने के चांस ज्यादा हैं.

क्या और कैसा रहा है बीते 5 बार का वोटिंग ट्रेंड?

1998 विधानसभा चुनाव: इस साल राजस्थान में वोटिंग परसेंटेज 63.39 रहा था. इस साल कांग्रेस की सरकार बनी थी. 
2003 विधानसभा चुनाव: इस साल चुनाव में वोटिंग परसेंटेज 67.18 फीसदी था, जो 1998 के मुकाबले 3.79 फीसदी ज्यादा था. सरकार भाजपा की बनी. 
2008 विधानसभा चुनाव: इस बार के चुनाव में वोटिंग फीसदी 66.25 रही थी. मतदान का प्रतिशत 2003 के मुकाबले 0.93 फीसदी कम था. सरकार इस बार कांग्रेस की बनी. 
2013 विधानसभा चुनाव: 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में इस बार एक बार फिर मतदान प्रतिशत में इजाफा हुआ. वोटिंग 75.04 फीसदी हुई जो 2008 के मुकाबले 8.79 फीसदी अधिक था. सरकार भाजपा ने बनाई. 
2018 विधानसभा चुनाव: पिछली बार हुए चुनाव में वोटिंग परसेंटेज 74.06 फीसदी था, जो 2013 के मुकाबले 0.98 प्रतिशत कम था. एक बार फिर कम मतदान के बाद कांग्रेस ने सरकार बनाई. 

पिछले 5 चुनावों में वोटिंग परसेंटेज, सीट

  • 1998 विधानसभा चुनाव
वोटिंग प्रतिशत63.39%
कांग्रेस153 सीट
बीजेपी33 सीट
  • 2003 विधानसभा चुनाव
वोटिंग प्रतिशत67.18%
बीजेपी120
कांग्रेस56
  • 2008 विधानसभा चुनाव
वोटिंग प्रतिशत66.25%
कांग्रेस96
बीजेपी78
  • 2013 विधानसभा चुनाव
वोटिंग प्रतिशत75.04%
बीजेपी163
कांग्रेस21
  • 2018 विधानसभा चुनाव
वोटिंग प्रतिशत74.06%
बीजेपी99
कांग्रेस73

2023 में राज्य के जिलों में मतदान का प्रतिशत

जिलावोटिंग परसेंटेज
उदयपुर73.32
टोंक72.73
सिरोही66.62
सीकर73.01
सवाई माधोपुर69.91
राजसमंद72.87
प्रतापगढ़82.07
पाली65.12
नागौर71.89
कोटा76.00
करौली68.38
जोधपुर70.09
झुझनूं72.11
झालावाड़80.24
जालोर69.56
जैसलमेर82.32
जयपुर 75.16
हनुमानगढ़81.30
गंगानगर 78.21
डुंगरपुर73.59
धौलपुर77.47
दौसा73.49
चूरू74.78
चित्तौड़गढ़79.86
बूंदी76.38
बीकानेर74.13
भीलवाड़ा75.42
भरतपुर71.80
बाड़मेर76.88
बारां 79.92
बांसवाड़ा 81.36
अलवर74.41
अजमेर72.81