menu-icon
India Daily
share--v1

'Flying Kiss' मामले पर राहुल गांधी के बचाव में उतरीं प्रियंका चतुर्वेदी, बोलीं- मैंने उन्हें ऐसा करते देखा लेकिन...

Rahul Gandhi: लोकसभा से बाहर निकलने के दौरान राहुल गांधी ने बीजेपी सांसदों को फ्लाइंग किस कर दिया. बीजेपी महिला सांसदों ने लोकसभा स्पीकर से इसकी शिकायत की है.

auth-image
Sagar Bhardwaj
'Flying Kiss' मामले पर राहुल गांधी के बचाव में उतरीं प्रियंका चतुर्वेदी, बोलीं- मैंने उन्हें ऐसा करते देखा लेकिन...

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा बुधवार को संसद में बीजेपी महिला सांसदों को फ्लाइंग किस करने का मुद्दा पूरे दिन गरमाता रहा. केंद्रीय मंत्री सृमति ईरानी ने इसे अमर्यादित बताया. इसके अलावा बीजेपी की महिला सांसदों ने लिखित में लोकसभा स्पीकर से इसकी शिकायत करते हुए राहुल गांधी पर कार्रवाई करने की मांग की.

हालांकि, शिव सेना यूबीटी नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने इस मुद्दे पर राहुल गांधी का बचाव किया है.

चतुर्वेदी ने कहा कि राहुल गांधी ने स्नेह के भाव में ऐसा किया. प्रियंका ने कहा, 'मैं उस समय दर्शक दीर्घा में बैठी थी. मैंने राहुल को ऐसा करते देखा था लेकिन उन्होंने ऐसा स्नेह के भाव में किया.'

क्या था पूरा मामला
बता दें कि आज जब राहुल गांधी अविश्वास प्रस्ताव पर अपना भाषण खत्म कर संसद से बाहर निकल रहे थे उस दौरान उनके हाथ से कुछ फाइलें नीचे गिर गईं. जब राहुल उन फाइलों को उठाने के लिए नीचे झुके तो बीजेपी के सांसद उन पर हंसने लगे. इस पर राहुल गांधी ने उनकी तरफ फ्लाइंग किस कर दिया.

बीजेपी महिला सांसदों ने लोकसभा स्पीकर से की शिकायत

बीजेपी की महिला सांसदों ने इसे अमर्यादित कृत्य बताते हुए इसकी शिकायत लोकसभा सांसद से कर दी और राहुल गांधी पर कार्रवाई करने की भी मांग की.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को उनकी इस हरकत के लिए महिला विरोधी बताया.

'राहुल फोबिया से पीड़ित हैं स्मृति ईरानी'

 वहीं, इन आलोचनाओं पर प्रतिक्रिया देते हुए लोकसभा में कांग्रेस व्हिप मनिकम टैगोर ने स्मृति ईरानी को राहुल-फोबिया से पीड़ित होने का आरोप लगा दिया और कहा कि वो इस फोबिया से बाहर निकलें.

उन्होंने कहा कि स्मृति ईरानी को राहुल फोबिया हो गया है, उन्हें इससे बाहर निकलना चाहिए.

'उनका इशारा स्नेह और मानवता का प्रतीक'

वहीं कांग्रेस पार्टी के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा के दौरान जो लोग इस यात्रा में शामिल हुए और जिन्होंने इसे देखा वे सभी इसे स्नेह और मानवता का प्रतीक बता रहे हैं.

यह भी पढ़ें: 'आर्टिकल-370 नेहरू की गलत नीतियों का परिणाम था, अब कश्मीर में कोई...'- संसद में बोले शाह