menu-icon
India Daily
share--v1

संजय सिंह के निलंबन पर बोले AAP सांसद राघव चड्ढा, '...आवाज उठाने वालों को निलंबित कर दो'

Manipur Violence: मणिपुर हिंसा को लेकर संसद में सियासी घमासन जारी है. इसी बीच सोमवार को संजय सिंह को पूरे मानसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया. वहीं, राघव चड्ढा ने संसद में बिजनेस सस्पेंशन नोटिस दायर किया और बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा

auth-image
Purushottam Kumar
संजय सिंह के निलंबन पर बोले AAP सांसद राघव चड्ढा, '...आवाज उठाने वालों को निलंबित कर दो'

नई दिल्ली: मणिपुर हिंसा को लेकर संसद में सियासी घमासन जारी है. संसद के मानसून सत्र के दौरान विपक्ष लगातार इस मुद्दे पर लोकसभा और राज्यसभा में पीएम मोदी के बयान और चर्चा की मांग कर रहा है. इसी बीच सोमवार को राज्यसभा में सभापति जगदीप धनखड़ ने आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह को पूरे मानसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया. वहीं, आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने मणिपुर में कानून व्यवस्था की स्थिति पर चर्चा के लिए संसद में बिजनेस सस्पेंशन नोटिस दायर किया.

राघव चड्ढा ने कहा है कि भारत की संसदीय इतिहास में किसी भी सदस्य को सत्र के लिए निलंबित कर देना रेयरेस्ट ऑफ रेयर ऑकेजन में होता है. इसका इस्तेमाल ऐसे केस में किया जाता है जब किसी सदस्य ने चेयर के प्रति या किसी सदस्य के प्रति आक्रमण किया हो, माइक तोड़ा हो या आपत्तिजनक हरकत की हो.

राघव चड्ढा ने आगे कहा कि एक बर्निंग इश्यू पर बहस की मांग करने के लिए एक सदस्य चेयर के पास जाकर दरख्वास्त करने का प्रयास करते हैं तब उनको सस्पेंड कर दिया जाता है. राघव चड्ढा ने कहा कि इससे यह दिखाता है कि शायद बीजेपी में अब टॉलरेंस का रत्ती भर भी अंश नहीं बचा. उनका एक ही लक्ष्य है कि आवाज उठाने वाले या नाकामी उजागर करने वाले को निलंबित कर दो.

यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा- राघव
आप सांसद ने कहा कि मणिपुर आज राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा बन गया है. मणिपुर में हो रहे घटनाओं को देखकर पूरे देश का दिल दहल गया है. कारगिल युद्ध के समय हमारे देश के एक जवान ने देश के लिए लड़ाई लड़ी और देश की रक्षा की लेकिन आज उसकी धर्मपत्नी को निर्वस्त्र कर उनसे छेड़छाड़ की गई. यह देखकर सूबेदार कह रहे हैं कि मैंने देश की रक्षा की लेकिन मैं अपने परिवार और पत्नी की रक्षा नहीं कर पाया इससे अपर्ध्य दृश्य देश के लिए क्या हो सकता है.

मन की बात बहुत हो गई- राघव
राघव चड्ढा ने कहा कि यह महिला सुरक्षा का मुद्दा है, राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा है और इसलिए हम कहना चाहते हैं कि मन की बात बहुत हो गई अब मणिपुर की बात हो. देश के संसद के मॉनसून सत्र में अगर मणिपुर की चर्चा नहीं होगी तो कहां होगी ? विपक्ष तो लगातार नोटिस दर्ज कराकर अपनी बात रख रहा है कि रूल 267 के अंतर्गत बहस कराई जाए. सरकार बहस शुरू करें अपना पक्ष रखें और विपक्ष अपना पक्ष रखें और तमाम सदस्य बोले और इस विचार विमर्श से ज़रूर कोई समाधान निकलेगा.