menu-icon
India Daily
share--v1

GIP Mall की दुकानों को ED ने क्यों कर दिया कुर्क? आखिर क्या है एक्शन की वजह

इंटरनेशनल एम्यूजमेंट लिमिटेड कंपनी पर मनी लॉन्ड्रिंग के गंभीर आरोप हैं. प्रवर्तन निदेशालय निदेशालय ने करोड़ों की संपत्तियों को कुर्क कर लिया है. नोएडा के GIP मॉल के कुछ परिसरों पर भी गाज गिरी है. क्या है पूरा मामला, आइए समझते हैं.

auth-image
India Daily Live
ED
Courtesy: Social Media

एक और कंपनी अब प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों के निशाने पर आ गई है. ईडी ने इंटरनेशनल एम्युजमेंट लिमिटेड कंपनी की 291.18 करोड़ रुपये की संपत्तियों को कुर्क कर लिया है. नोएडा के GIP मॉल और कई एटंरटेनमेंट सर्विसेज से जुड़ी हुई जगहों पर इस कंपनी की संपत्तियां हैं. इस कंपनी के पास कई कॉमर्शियल स्पेस हैं, जिन्हें अब ईडी ने जब्त किया है. 

ईडी के मुताबिक इस कंपनी पर गुरुग्राम के सेक्टर 29 और 62ए में दुकानों और संपत्तियों को दिखाकर 1,500 निवेशकों से 400 करोड़ रुपये से ज्यादा निवेश हासिल करने का आरोप है. इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये कंपनी तय समय में निवेशकों से किया गया वादा नहीं पूरा कर सकी, जिसकी वजह से हर महीने मिलने वाले रिटर्न का भी भुगतान नहीं पूरा हो सका.

GIP में कहां गिरी गाज?

GIP मॉल नोएडा में भी इस कंपनी की संपत्तियां हैं. जिन संपत्तियों को कुर्क किया गया है, उनमें नोएडा में करीब 3,93,737.28 वर्ग फुट का एक अनसोल्ड कमर्शियल स्पेस है. एक एडवेंचर आइलैंड लिमिटेड है,  वहीं इंटरनेशनल एम्युजमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के नाम पर 218 एकड़ की जमीनें शामिल हैं. 

क्या हैं आरोप, क्यों PMLA के तहत गिरी गाज?

ईडी ने आरोप लगाया है कि इंटरनेशनल रिक्रिएशन कंपनी के प्रमोटर्स और निदेशकों ने करीब 400 करोड़ रुपये का हेरफेर किया है. पीएमएल के प्रावधानों के तहत संपत्तियां जब्त की गई हैं. नोएडा का GIP मॉल, दिल्ली-एनसीआर के चर्चित शॉपिंग मॉल्स में से एक है.