menu-icon
India Daily
share--v1

कल से फ्रांस और यूएई की यात्रा पर रवाना होंगे पीएम मोदी, बैस्टिल परेड समेत इन कार्यक्रमों में लेंगे हिस्सा

PM Narendra Modi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 से 15 जुलाई के बीच फ्रांस और यूएई की आधिकारिक यात्रा पर जा रहे हैं. विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी है.

auth-image
Sagar Bhardwaj
कल से फ्रांस और यूएई की यात्रा पर रवाना होंगे पीएम मोदी, बैस्टिल परेड समेत इन कार्यक्रमों में लेंगे हिस्सा

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 से 15 जुलाई के बीच फ्रांस और यूएई की आधिकारिक यात्रा पर जा रहे हैं. विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी है. 14 जुलाई को पीएम मोदी विशेष अतिथि के तौर पर बैस्टिल डे परेड में शामिल होंगे. इस समारोह में भारत की जल, थल और वायु सेना की टुकड़ियां भी हिस्सा लेंगी. इसके अलावा इस परेड में 3 राफेल विमान भी करतब दिखाते नजर आएंगे.

13 से 14 जुलाई को फ्रांस में होंगे पीएम मोदी

13 से 14 जुलाई की अपनी फ्रांस यात्रा के दौरान पीएम मोदी, राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रां से एक औपचारिक बातचीत भी करेंगे. वहीं राष्ट्रपति मैक्रां पीएम मोदी के सम्मान में राजकीय भोज के साथ-साथ एक निजी रात्रि भोज का भी आयोजन करेंगे.

इसके साथ प्रधानमंत्री मोदी अपनी यात्रा के दौरान फ्रांस के प्रधानमंत्री, संसद के सभापतियों और फ्रांस की नेशनल असेंबली के साथ मुलाकात करेंगे. इसके अलावा पीएम अप्रवासी भारतीयों, फ्रांसीसी कंपनियों के भारतीय सीईओ और फ्रांस की प्रतिष्ठित शख्सियतों के साथ भी निजी तौर पर संवाद करेंगे.

बता दें कि यह साल भारत और फ्रांस के बीच रणनीतिक साझेदारी का 25वां साल है. ऐसे समय में पीएम मोदी की यह यात्रा दोनों देशों के बीच रणनीति, सांस्कृतिक, वैज्ञानिक, शैक्षणिक और आर्थिक क्षेत्रों में मजबूत गठजोड़ की नींव रखेगी.

क्यों मनाया जाता है बैस्टिल दिवस
बता दें कि 14 जुलाई 1789 को फ्रांसीसी क्रांति के दौरान बैस्टिल किले पर हमला हुआ था, इस हमले की याद में ही बैस्टिल दिवस या फ्रांस दिवस मनाया जाता है.

फ्रांस की यात्रा के बाद पीएम मोदी यूएई की यात्रा पर रवाना होंगे. बता दें की भारत और यूएई के बीच रणनीतिक साझेदारी लगातार मजबूत होती जा रही है. पीएम मोदी की इस यात्रा से भारत और यूएई के बीच ऊर्जा, शिक्षा, स्वास्थ्य, खाद्द सुरक्षा, रक्षा और संस्कृति के क्षेत्र में भी सहयोग बढ़ाने के रास्ते खुलेंगे. इसके अलावा उनकी यह यात्रा वैश्विक मुद्दों पर बातचीत करने का भी एक बेहतर अवसर प्रदान करेगी.

यह भी पढ़ें: क्या है 'बैस्टिल दिवस' जिसमें शामिल होने फ्रांस जा रहे हैं पीएम मोदी?