menu-icon
India Daily
share--v1

Abu Dhabi temple: 'जिस जमीन पर लकीर खींच लेंगे, मैं दे दूंगा', अबू धाबी में मंदिर उद्घाटन से पहले PM मोदी ने सुनाया रोचक किस्सा

PM Modi UAE visit: 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी साल 2015 में पहली बार पीएम के तौर पर UAE पहुंचे थे. इस दौरान उनकी मुलाकात तत्कालीन क्राउन प्रिंस से हुई थी. तब उन्होंने अबू धाबी में मंदिर का प्रस्ताव रखा था. जमीन मिलने के बाद पीएम मोदी ने ही 2019 में मंदिर की आधारशिला रखी थी. आज इस भव्य मंदिर का उद्घाटन होने जा रहा है.

auth-image
India Daily Live
Abu Dhabi temple Inauguration

Abu Dhabi temple Inauguration: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज संयुक्त अरब अमीरात के अबू धाबी में भव्य स्वामीनारायण मंदिर का उद्घाटन करेंगे. मंदिर के उद्घाटन से कुछ घंटे पहले पीएम मोदी ने 'अहलान मोदी' नाम के कार्यक्रम में भारतीय समुदायों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने अबू धाबी में तैयार भव्य मंदिर से जुड़ा एक रोचक किस्सा भी बताया. उन्होंने बताया कि साल 2015 में उन्होंने UAE का दौरा किया था. इस दौरान उन्होंने तत्कालीन क्राउन प्रिंस नाहयान के सामने भव्य मंदिर के लिए जमीन का प्रस्ताव रखा था. इसके बाद क्राउन प्रिंस ने जो कहा था, वो उन्होंने भारतीय समुदायों के साथ शेयर किया.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब साल 2015 में तत्कालीन क्राउन प्रिंस के सामने आप सब की ओर से मैंने अबू धाबी में मंदिर का प्रस्ताव रखा, तो उन्होंने तुरंत बिना एक पल भी गंवाए हां कर दिया. उन्होंने तो यहां तक कह दिया कि जिस जमीन पर लकीर खींच लेंगे... मैं दे दूंगा. अब अबू धाबी में इस भव्य-दिव्य मंदिर के लोकार्पण का समय आ गया है.

शेख जायद स्टेडियम में भारतीयों को किया संबोधित

प्रधानमंत्री दो दिनों के UAE के दौरे पर हैं. आज पीएम मोदी के दौरे का दूसरा यानी आखिरी दिन है. पीएम मोदी ने पहले दिन अबू धाबी के शेख जायद स्टेडियम में भारतीय समुदायों को संबोधित किया. पीएम मोदी ने 2015 की यूएई की यात्रा को याद करते हुए कहा कि मेरा सौभाग्य है कि यूएई ने मुझे अपने सर्वोच्च सम्मान 'द ऑर्डर ऑफ जाएद' से सम्मानित किया. ये सम्मान भी सिर्फ मेरा नहीं है, बल्कि करोड़ों भारतीयों का सम्मान है. आप सभी का सम्मान है. मुझे खुशी है कि अमीरात के साथियों ने भारतीयों को अपने दिल में जगह दी है, अपने सुख-दुख का साझीदार बनाया है। समय के साथ ये रिश्ता दिनोंदिन और मजबूत होता जा रहा है.

700 करोड़ रुपये की लागत से तैयार हुआ है मंदिर

अबू धाबी में तैयार भव्य स्वामीनारायण मंदिर का निर्माण बोचासनवासी श्री अक्षर पुरूषोत्तम स्वामीनारायण संस्था यानी BAPS ने कराया है. करीब 700 करोड़ रुपये की लागत से तैयार मंदिर शानदार तरीके से तैयार किया गया है. मंदिर के अंदर और बाहर राजस्थान और गुजरात के कारीगरों ने शानदार नक्काशी की है. अबू धाबी में 'अल वाकबा' इलाके में तैयार भव्य मंदिर करीब 20 हजार वर्गमीटर क्षेत्र में फैला है. 

मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के लिए ये सुविधाएं

विजिटर सेंटर, प्रार्थना कक्ष, लर्निंग सेंटर, बच्चों और युवाओं के लिए प्ले एरिया, गार्डन, फूड कोर्ट, बुक स्टॉल और गिफ्ट आइटम्स की शॉप मंदिर कैंपस में होंगी. भव्य हिंदू मंदिर के लिए जमीन देने के लिए स्वामीनारायण मंदिर के डायरेक्टर प्रणव देसाई ने UAE को धन्यवाद दिया है. मंदिर निर्माण में लोहे या स्टील का यूज नहीं किया गया है, बल्कि पत्थरों से इस भव्य मंदिर का निर्माण किया गया है. 108 फीट ऊंचे इस मंदिर में पत्थरों पर राजस्थान और गुजरात के कारीगरों से शानदार नक्काशी कराई गई है.