menu-icon
India Daily
share--v1

केरल में कोरोना के आंकड़ें ने बढ़ाई टेंशन! जानें कौन सा वेरिएंट आया सामने?

भारत में बीते शुक्रवार को कोविड-19 के 312 नए मामले दर्ज किए गए, जिनमें केरल से 280 मामले शामिल हैं. जहां पिछले सप्ताह से मामलों में वृद्धि देखी जा रही है.

auth-image
Avinash Kumar Singh
New variant Corona virus JN1 Kerala

हाइलाइट्स

  • केरल में कोरोना वायरस का नया वेरिएंट JN.1 ने दिया दस्तक
  • कोविड के बढ़ते मामलों को लेकर एक्शन मोड में तमिलनाडु सरकार

नई दिल्ली: भारत में बीते शुक्रवार को कोविड-19 के 312 नए मामले दर्ज किए गए, जिनमें केरल से 280 मामले शामिल हैं. जहां पिछले सप्ताह से मामलों में वृद्धि देखी जा रही है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार ताजा मामले पिछले 24 घंटों में किए गए 17,605 परीक्षणों से सामने आया है. केरल में कोरोना वायरस का एक और नया उप स्वरूप सामने आया है. जिसका नाम नाम जेएन.1 रखा गया है. केरल में कोविड-19 मामलों में अचानक वृद्धि देखी जा रही है और इस महीने वायरस की वजह से दो लोगों की मौत हो गई है. जारी किये गए आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक केरल में नवंबर में 470 मामले और इस महीने के पहले दस दिनों के भीतर 825 नए मामले दर्ज किए गए, जो भारत में सबसे अधिक है. गुरुवार तक राज्य में 1,104 सक्रिय कोविड मामले हैं. ऐसे में नए कोरोना वायरस JN.1 वेरिएंट को देखते हुए केरल सरकार एक्शन मोड में नजर आ रही है. 

'वायुमंडलीय प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन बड़ी वजह'

केरल राज्य अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सनी पी. ओराथेल ने बताया "कोविड मामलों का पता श्वसन संबंधी लक्षणों के साथ अस्पताल में भर्ती मरीजों में लगाया जाता है. ज्यादातर मामलों में उनका H1N1 टेस्ट नेगेटिव आता है लेकिन कोविड टेस्ट पॉजिटिव आता है. कुछ रोगियों में लक्षणों की अवधि लंबी होती है और वे एक या दो महीने तक रहते हैं. अब हम जो नोटिस कर रहे हैं वह यह है कि कोविड से अधिक, वायुमंडलीय प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन के कारण लक्षण बढ़ गए हैं"

कोविड के बढ़ते मामलों को लेकर एक्शन मोड में तमिलनाडु सरकार

तमिलनाडु राज्य सरकार ने परीक्षण के लिए कोविड-19 के नमूने भेजे हैं. तमिलनाडु सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मा सुब्रमण्यम ने कहा "केरल में नए कोविड-19 वैरिएंट जेएन.1 के मामलों में वृद्धि के कारण तमिलनाडु राज्य सरकार ने जहां भी बुखार के मामले अधिक हैं, वहां आरटी-पीसीआर परीक्षणों में वृद्धि का आदेश दिये है. हमने बुखार से पीड़ित 264 लोगों का परीक्षण किया है. उनमें से आठ लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए"

जानें पूरे भारत में कोविड के कितने मामले आये सामने? 

केवल एक महीने में सक्रिय मामले 33 से बढ़कर 768 हो गए, जिससे चिंता बढ़ गई है. हालांकि विशेषज्ञों ने कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है. भारत में कोविड मामले में शुक्रवार को अपडेट किए गए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत में एक दिन में 312 नए कोरोनोवायरस संक्रमणों की वृद्धि देखी गई, जो 31 मई के बाद सबसे अधिक है, जबकि सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 1,296 हो गई है. शुक्रवार सुबह 8 बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार मरने वालों की संख्या 5,33,310 दर्ज की गई है.