menu-icon
India Daily
share--v1

ज्ञानवापी में सर्वे पर रोक के लिए कोर्ट पहुंची मसाजिद कमेटी, अदालत 17 अगस्त को करेगी सुनवाई

ज्ञानवापी परिसर में भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण (एएसआई) द्वारा किए जा रहे सर्वे पर रोक लगाने के लिए मसाजिद कमेटी एक बार फिर कोर्ट पहुंची है. इस पर हिन्दू पक्ष 17 अगस्त को आपत्ति दाखिल करेगा.

auth-image
Shubhank Agnihotri
ज्ञानवापी में सर्वे पर रोक के लिए कोर्ट पहुंची मसाजिद कमेटी, अदालत 17 अगस्त को करेगी सुनवाई

 

नई दिल्लीः ज्ञानवापी परिसर में भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण (एएसआई) द्वारा किए जा रहे सर्वे पर रोक लगाने के लिए मसाजिद कमेटी एक बार फिर कोर्ट पहुंची है. 

इस पर हिन्दू पक्ष 17 अगस्त को आपत्ति दाखिल करेगा. 

मसाजिद कमेटी ने एएसआई के सर्वे पर रोक लगाने के लिए याचिका दाखिल की है.

जिसमें कहा गया कि चार महिला वादिनियों की याचिका पर जिला जज ने 21 जुलाई को ज्ञानवापी परिसर के एएसआई को सर्वे करने का आदेश दिया था.

कानूनी प्रक्रिया के विपरीत 
 

रिपोर्ट के अनुसार महिला वादिनियों की तरफ से सर्वे में आ रहे खर्च की फीस नहीं जमा की गई.

 बिना फीस जमा किए ही यह सर्वे किया जा रहा है जो सिविल रूल के खिलाफ है. 

सर्वे के लिए एएसआई को रिट नहीं जारी की गई. 

साथ ही महिला वादियों को लिखित रूप से सर्वे की जानकारी भी नहीं दी गई जो सर्वे किया जा रहा है वह कानून में प्रावैधानिक प्रक्रिया के विपरीत है.

हिंदू पक्ष दाखिल करेगा आपत्ति
ऐसे में जनरल रूल और सिविल प्रक्रिया संहिता के तहत दिए गए प्रावधानों का पालन किए बगैर जो सर्वे किया जा रहा है उसे रोका जाए. 

इस आवेदन पर अन्य महिला वादिनियों के वकीलों की तरफ से आपत्ति जताई गई है. 

अदालत ने सुनवाई के लिए 17 अगस्त की तिथि तय की है .

 अब 17 अगस्त को ही हिंदू पक्ष अपनी आपत्ति दाखिल करेगा.

 

यह भी पढ़ेंः 1980 के मुरादाबाद दंगों की क्या है कहानी, जिसको दशकों तक छुपाती रही सरकारें