menu-icon
India Daily
share--v1

Maharashtra: मुंबई में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेश के 9 नागरिक गिरफ्तार, महाराष्ट्र एटीएस की छापेमारी

Mumbai Navi: मुंबई के अलग-अलग इलाकों में रह रहे बांग्लादेश के नौ नागरिकों को महाराष्ट्र एटीएस ने गिरफ्तार किया है. इनमें से कुछ दोषी अलग-अलग मामलों में वांछित थे.

auth-image
Gyanendra Tiwari
Maharashtra: मुंबई में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेश के 9 नागरिक गिरफ्तार, महाराष्ट्र एटीएस की छापेमारी

नई दिल्ली. Maharashtra ATS : देश में अवैध रूप से रहने वाले बांग्लादेश के 9 नागरिकों को महाराष्ट्र एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है. एक अधिकारी ने बताया कि 2 बांग्लादेशी नागरिक 2022 में नेरुल पुलिस स्टेशन में दर्ज दुष्कर्म के एक मामले में फरार चल रहे थे.

यह भी पढ़ें- सेहत के लिए खतरनाक है इन चीजों का सेवन, इम्यूनिटी हो जाती है कमजोर!

महिला भी हुई गिरफ्तार
दस्तावेजों के बिना देश के अलग-अलग शहरों में रह रहे बांग्लादेशी नागरिकों के खिलाफ कई दिनों तक छापेमारी अभियान चलाया. इससे पहले 26 जुलाई को नेरुल गांव में छापेमारी में एटीएस ने एक बांग्लादेशी महिला को गिरफ्तार किया था. अधिकारियों ने बताया कि 2009 के एक मामले में पकड़ी गई यह महिला वांछित थी.

एटीएस ने दुष्कर्म मामले में फरार दो लोग को सैटेलाइट सिटी से दबोचा गया. अधिकारी ने बताया कि 27 जुलाई को की गई छापेमारी में उन्होंने पासपोर्ट अधिनियम के तहत दर्ज एक मामले में फरार चल रहे 4 बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया था.

दूसरे धर्म की लड़कियों को बहला फुसलाकर उनसे शादी करने वालों के खिलाफ एसओपी तैयार करने की बात कही गई है. यह बात राज्य के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को विधानसभा में चर्चा के दौरान कही. औरंगाबाद जिले में असामाजिक तत्वों की ओर से हिंदू लड़कियों को बहकाए जाने के मामले को लेकर देवेंद्र फडणवीस विधानसभा में चर्चा कर रहे थे.

लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने की मांग
राज्य में इस तरह के बढ़ते मामलों को देखते हुए भाजपा के दो विधायको ने लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने की मांग की है.  एमएलसी प्रवीण दरेकर और प्रसाद ने मांग की है कि उत्तर प्रदेश की तर्ज पर महाराष्ट्र में भी  'लव जिहाद' के खिलाफ कानून बनाया जाना चाहिए.

बुधवार को विधानसभा में राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में फर्जी नाम बदलकर हिंदू लड़कियों लड़कियों को धोखा दिए जाने का मुद्दा प्रवीण दरेकर ने सदन में उठाया. उन्होंने कहा लड़कियों को पहले फंसाया जाता है फिर उन्हें धर्म बदलने के लिए मजबूर किया जाता है. ऐसा न करने पर उनके साथ दुष्कर्म किया जाता है. इन सब पर प्रतिबंध लगाने के लिए राज्य में भी लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाया जाए.

यह भी पढ़े- सावन के पांचवें सोमवार पर कर लें ये उपाय, व्यापार से लेकर नौकरी तक में मिलेगी तरक्की