menu-icon
India Daily
share--v1

लखनऊ में अधिकारी की बेटी से गैंगरेप; चलती कार में दरिंदों ने बनाया वीडियो, सड़क किनारे फेंक कर भागे

पीड़िता लखनऊ के केजीएमयू में इलाज कराने के लिए गई थी. वहीं पास में एक चाय की दुकान है. यहां पीड़िता अक्सर चाय पीने के लिए जाती थी. घटना वाले दिन भी पीड़िता चाय पीने के लिए आई थी.

auth-image
Naresh Chaudhary
UP Crime News, Crime News, Lucknow Crime News, Lucknow News

हाइलाइट्स

  • 5 दिसंबर का है मामला, केजीएमयू में इलाज के लिए आई थी पीड़िता
  • तीनों आरोपियों ने बहाने से कार में बैठाया, फिर बाराबंकी ले गए
  • लखनऊ पुलिस ने कुछ ही घंटों में तीनों आरोपियों को किया गिरफ्तार

UP Crime News: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है. यहां तीन आरोपियों ने लखनऊ के एक अधिकारी की 24 वर्षीय बेटी को अगवा करके उसके साथ गैंगरेप किया. इतना ही नहीं, गैंगरेप के दौरान उसका अश्लील वीडियो बना लिया और फिर उसे ब्लैकमेल करने लगे. पीड़िता ने अपने घर वालों को मामले की जानकारी दी, जिसके बाद तीनों के खिलाफ केस दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ्तार किया गया है. इस मामले को यूपी के पूर्व सीएम और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कानून व्यवस्था पर सवार खड़े करते हुए ट्वीट किया है. 

5 दिसंबर का है मामला, केजीएमयू में इलाज के लिए आई थी पीड़िता

जानकारी के मुताबिक मामला 5 दिसंबर का है. लखनऊ स्थित केजीएमयू के एक विभाग में इलाज कराने के लिए गई थी. वहीं पास में एक चाय की दुकान है. यहां पीड़िता अक्सर चाय पीने के लिए आती थी. घटना वाले दिन भी पीड़िता चाय पीने के लिए आई थी. इस दौरान उसने दुकानदार सत्यम से मोबाइल फोन का चार्जर दिलाने की बात कही थी. आरोप है कि सत्यम लड़की को चार्जर दिलाने के लिए अपनी बाइक आईटी चौराहे लेकर गया था. 

तीनों आरोपियों ने बहाने से कार में बैठाया, फिर बाराबंकी ले गए

बताया गया है कि यहां पहले से मोहम्मद सुहैल और मोहम्मद असलम मौजूद थे. तीनों ने बहाने से  लड़की को गाड़ी में बैठा लिया और फिर पीड़िता को लेकर बाराबंकी स्थिति सफेदाबाद तक ले गए. आरोप है कि कुछ नशीला पदार्थ खिलाकर तीनों ने उसके साथ गैंगरेप किया और उसका वीडियो बना लिया. इसके बाद दरिंदे पीड़िता को मुंशी पुलिया के पास फेंक कर फरार हो गए. पीड़िता के परिवार वालों ने बताया कि आरोप वीडियो को दिखाकर उसे ब्लैकमेल कर रहे थे. उसे फिर से बुला रहे थे.

लखनऊ पुलिस ने कुछ ही घंटों में तीनों आरोपियों को किया गिरफ्तार

लखनऊ के डीसीपी राहुल राज ने बताया कि पीड़िता के परिवार वालों की तहरीर पर वजीराबाद कोतवाली में केस दर्ज किया गया है. इसके बाद दबिश देकर कुछ ही घंटों में तीनों को धर दबोचा गया है. उन्होंने बताया कि आरोपियों की पहचान चाय दुकानदार सत्यम मिश्रा निवासी मड़ियांव, सुहैल निवासी बाजारखाला और एंबुलेंस चालक असमल निवासी टुड़ियागंज के रूप में हुई है. पुलिस ने आरोपियों की कार को भी बरामद कर लिया है.