share--v1

Lok Sabha Elections 2024: जानें क्यों राहुल गांधी छोड़ रहे वायनाड सीट का साथ, अब इन दो सीटों पर भरेंगे उम्मीदवारी

Lok Sabha Election 2024: राहुल गांधी को लेकर खबर आ रही है वह इस बार वायनाड की बजाए इस राज्यों की दो सीटों पर चुनाव लड़ सकते हैं. आइए जानते हैं राहुल गांधी क्यों छोड़ रहे हैं वायनाड का साथ.

auth-image
India Daily Live

Lok Sabha Election 2024: साल 2024 में होने वाले आम चुनावों के ऐलान में कुछ वक्त का ही समय रह गया है लेकिन राजनीतिक गलियारों में इसकी तैयारियां अभी से जोरों पर शुरू हो गई है. केंद्र की एनडीए सरकार के सामने विपक्ष के इंडिया गठबंधन का नेतृत्व कर रहे राहुल गांधी को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. राहुल गांधी ने पिछले लोकसभा चुनावों में केरल की वायनाड और उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से ताल ठोंकी थी जिसमें उन्हें सिर्फ वायनाड में ही जीत मिली थी जबकि अमेठी में स्मृति ईरानी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था.

इस बीच ये खबर आ रही है कि राहुल गांधी एक बार फिर से लोकसभा चुनावों में दो सीटों से नामांकन भरते नजर आएंगे, हालांकि इसके लिए वो केरल की वायनाड सीट का साथ छोड़ सकते हैं. रिपोर्ट के अनुसार राहुल गांधी आगामी लोकसभा चुनाव में वायनाड सीट के बजाय कर्नाटक या तेलंगाना में से किसी एक जगह से चुनाव लड़ सकते हैं तो वहीं दूसरी सीट उत्तर प्रदेश की रायबरेली या अमेठी हो सकती है.

वायनाड से CPI ने डी राजा की पत्नी को उतारा

वहीं दूसरी तरफ सीपीआई की तरफ से पार्टी के महासचिव डी राजा की पत्नी एनी राजा को वायनाड से उतारा गया है. ऐसे में इंडिया गठबंधन के लिए भी यह ठीक नहीं होगा कि डी राजा की पत्नी राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ें. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार बीते दिनों डी राजा की ओर से एक बयान जारी कर कहा गया था कि कांग्रेस को वायनाड सीट छोड़ने को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार डी राजा ने बताया कहा है कि वायनाड उन चार सीटों में से एक है जो सीपीआई को एलडीएफ के भीतर सीट-बंटवारे समझौते के हिस्से के रूप में मिली थी.

केरल में कांग्रेस से 3 सीट मांग रही IUML

उल्लेखनीय है कि इंडिया गठबंधन के तहत केरल में कांग्रेस और इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग एक साथ चुनाव लड़ रही हैं, जहां पर सीट शेयरिंग के तहत मुस्लिम लीग 3 सीटों पर चुनाव लड़ने की मांग कर रही है. वायनाड में मुस्लिम मतदाताओं की संख्या को देखते हुए इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग राहुल गांधी की सीट पर अपने उम्मीदवार को उतारना चाहती है.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 में भी राहुल गांधी दो लोकसभा सीट से चुनाव लड़े थे. इस दौरान उन्हें यूपी की अमेठी सीट पर बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी के सामने हार का सामना करना पड़ा था लेकिन वायनाड सीट से सीपीआई उम्मीदवार पीपी सुनीर को हराकर उन्होंने 4 लाख से अधिक वोटों के अंतर से जीत दर्ज की थी.