menu-icon
India Daily
share--v1

Pneumonia Outbreak in China: चीन की रहस्यमयी बीमारी से भारत सतर्क, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की राज्यों को एडवाइजरी

Pneumonia Outbreak in China: चीन की रहस्यमयी बीमारी पर भारत सरकार काफी सतर्कता बरत रही है. चीन में इसके प्रकोप को देखते हुए भारत ने केंद्र शासित प्रदेशों और राज्यों को एडवाइजरी जारी की है.

auth-image
Shubhank Agnihotri
Pneumonia Outbreak in China: चीन की रहस्यमयी बीमारी से भारत सतर्क,  स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की राज्यों को एडवाइजरी

Pneumonia Outbreak in China: चीन की रहस्यमयी बीमारी पर भारत सरकार काफी सतर्कता बरत रही है. चीन में इसके प्रकोप को देखते हुए भारत ने केंद्र शासित प्रदेशों और राज्यों को एडवाइजरी जारी की है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से सार्वजनिक स्वास्थ्य तंत्र को दुरुस्त रखने को कहा है. इसके अलावा मंत्रालय ने किसी बड़ी बीमारी के खतरे को देखते हुए अस्पतालों में तैयारी करने के लिए भी कहा है.केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी एडवाइजरी में राज्यों को हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है.

 

स्वास्थ्य मंत्रालय की एडवाइजरी

- अस्पतालों में बेड और स्टाफ की कोई कमी न हो. 
- जरूरी दवाओं और एंटीबायोटिक्स का स्टाक रखें. 
- ऑक्सीजन सिलेंडर पर्याप्त मात्रा में मौजूद रहें.
- पीपीई किट और टेस्टिंग किट उपलब्ध रहें. 
- ऑक्सीजन प्लांट और वेंटिलेंटर्स सही तरीके से काम करते रहें.


मार्च तक इस बीमारी का खतरा ज्यादा 


उत्तरी चीन में फैल रही इस बीमारी को लेकर वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने भी च‍िंता जाह‍िर की है. WHO ने चीन से इस बीमारी से जुड़ी जानकारी मांगी है. इससे पहले चीनी स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा था कि वह फैल रही बीमारी पर अपनी नजर बनाए हुए है. मिनिस्ट्री ने कहा कि चीन में बच्चों बच्चों में H9N2 मामलों और सांस से जुड़ी बीमारी के फैलने की बारीकी से निगरानी की जा रही है. चीनी अधिकारियों का कहना है कि मार्च तक इस बीमारी का खतरा ज्यादा है.

हर दिन हजार से ज्यादा भर्ती हो रहे मरीज 

23 नवंबर को चीनी मीडिया ने स्कूलों में एक रहस्यमयी बीमारी फैलने की बात कही थी. पीड़ित बच्चों के फेफड़ों में जलन, सांस लेने में दिक्कत, खांसी, तेज बुखार जैसै लक्षण दिखाई दे रहे हैं. बीमारी के प्रसार पर रोक लगाने के लिए स्कूलों में छुट्टी कर दी गई है. रिपोर्ट के मुताबिक, इस बीमारी के कारण राजधानी बीजिंग और उसके 500 मील के दायरे में सभी अस्पताल मरीजों से भर गए हैं. अस्पतालों में एक दिन में 1200 मरीज हर दिन इमरजेंसी में एडमिट हो रहे हैं.

 

 

यह भी पढ़ेंः अमेरिका में तीन फिलिस्तीनी छात्रों को मारी गई गोली, FBI कर सकती है जांच