share--v1

Mani Shankar Aiyar: 'पाकिस्तान के लोग हिंदुस्तान की सबसे बड़ी संपत्ति' अय्यर का फिर छलका पाकिस्तान प्रेम!

Mani Shankar Aiyar in Pakistan: पाकिस्तानी अखबार द डॉन के मुताबिक कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने लाहौर में कहा कि मेरे अनुभव से पाकिस्तानी ऐसे लोग हैं, जो दूसरे पक्ष के लिए जरूरत से ज्यादा प्रतिक्रिया देते हैं. अगर हम दोस्ती का व्यवहार रखते हैं, तो वे और ज्यादा दोस्ती रखते हैं. अगर हम उनके साथ दुश्मनी दिखाएंगे तब वे और भी शत्रुता दिखाएंगे.

auth-image
India Daily Live
फॉलो करें:

Mani Shankar Aiyar in Pakistan: पाकिस्तान में नई सरकार के गठन की तस्वीर साफ नहीं हुई है. सत्ता पर काबिज होने के लिए सियासी जोड़-तोड़ का खेल शुरू हो गया है. इसी बीच कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान राग अलापते हुए वहां के लोगों की जमकर तारीफ की है. पाकिस्तानी की चर्चित अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने पाकिस्तान के लोगों को भारत के लिए सबसे बड़ी संपत्ति करार दिया है. जिससे एक नया विवाद पैदा हो गया है. 

बीते रविवार को लाहौर के फैज फेस्टिवल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा अय्यर ने कहा 'मेरे अनुभव से पाकिस्तानी ऐसे लोग हैं जो शायद दूसरे पक्ष के प्रति जरूरत से ज्यादा प्रतिक्रिया करते हैं. अगर हम मित्रवत हैं, तो वे अति-मित्रवत हैं, और यदि हम शत्रुतापूर्ण हैं, वे अत्यधिक शत्रुतापूर्ण हो जाते हैं.'

'पाकिस्तान में खुली बाहों से हुआ स्वागत'

अपने अनुभवों का जिक्र करते हुए अय्यर ने कहा 'पाकिस्तान के अलावा वह किसी ऐसे देश में नहीं गए जहां उनका इतनी खुली बाहों से स्वागत हुआ हो. जब वह कराची में महावाणिज्य दूत के रूप में थे तो हर कोई उनकी और उनकी पत्नी के देखभाल कर रहा था. सद्भावना की आवश्यकता थी, लेकिन पहली नरेंद्र मोदी सरकार के गठन के बाद से पिछले 10 सालों के दौरान सद्भावना के बजाय कुछ उल्टा हुआ है.' 

मोदी सरकार पर अय्यर का बड़ा हमला 

मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए अय्यर ने कहा 'मैं पाकिस्तान के लोगों से बस इतना कहना चाहता हूं कि यह याद रखें कि मोदी को कभी भी एक तिहाई से अधिक वोट नहीं मिले हैं, लेकिन हमारी प्रणाली ऐसी है कि अगर उनके पास एक तिहाई वोट हैं, तो उनके पास दो-तिहाई सीटें हैं.  इसलिए दो-तिहाई भारतीय आपकी (पाकिस्तानियों) ओर आने के लिए तैयार हैं.'

'मेज पर बैठकर बात करने का साहस नहीं'

डॉन ने कार्यक्रम में उनके हवाले से कहा अय्यर ने दोनों देशों के बीच बातचीत की वकालत करते हुए कहा 'इस्लामाबाद में कांग्रेस सरकार और बीजेपी सरकार में पांच भारतीय उच्चायुक्त थे और वे सभी एकमत थे कि हमारे मतभेद जो भी हों, हमें पाकिस्तान के साथ जुड़ना चाहिए और पिछले 10 वर्षों में हमने जो सबसे बड़ी गलती की है वह बातचीत न करना. हमारे पास आपके खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक का साहस है, लेकिन मेज पर बैठकर बात करने का साहस नहीं है.'

'63 प्रतिशत भारतीयों ने कभी भी बीजेपी को वोट नहीं दिया'

उन्होंने कहा कि उन्हें यह उम्मीद करना मूर्खतापूर्ण लगता है कि 'भारत में हिंदुत्व प्रतिष्ठान पाकिस्तान से बात करना चाहेगा. हिंदुत्व के तहत वे पाकिस्तान की नकल करने की कोशिश कर रहे हैं, जो एक इस्लामी गणतंत्र बन गया. इस्लामी गणतंत्र के लिए गांधी-नेहरू का जवाब था कि वे धर्म के आधार पर गणतंत्र नहीं बल्कि सभी धर्मों के आधार पर गणतंत्र बनेंगे. उनका दर्शन 65 वर्षों तक कायम रहा लेकिन 2014 में उखाड़ फेंका गया और दिल्ली में उसी मानसिकता को स्थापित किया गया. यह अल्पसंख्यक राय है क्योंकि 63 प्रतिशत भारतीयों ने कभी भी बीजेपी को वोट नहीं दिया है.'

Also Read

First Published : 12 February 2024, 09:03 AM IST