menu-icon
India Daily
share--v1

Himachal News: कुल्लू के मुजग गांव में फटा बादल, कई गाड़ियां बहीं, 15 लाख की संपत्ति का नुकसान

स्थानीय लोगों ने बताया कि चूंकि यह घटना देर रात को हुई थी इसलिए इसमें किसी की जान नहीं गई, लेकिन संपत्ति को भारी नुकसान हुआ है. बादल फटने से मोहाल नदी में बाढ़ आ गई है.

auth-image
Manish Pandey
Himachal News: कुल्लू के मुजग गांव में फटा बादल, कई गाड़ियां बहीं, 15 लाख की संपत्ति का नुकसान

Kullu News: हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। कुल्लू के मुजग गांव में रविवार को बादल फटने के बाद मोहाल नदी में बाढ़ आ गई। बाढ़ के पानी का सैलाब अपने साथ कई गाड़ियों को भी बहा ले गया. हालांकि चूंकि यह घटना आधी रात को घटी थी इसलिए इस बाढ़ से किसी की जान नहीं गई, लेकिन संपत्ति को भारी नुकसान हुआ.

'बाढ़ से 15 लाख की संपत्ति का नुकसान'
स्थानीय लोगों ने बताया कि बाढ़ रात करीब एक बजे के आसपास आई, उस समय सब अपने घरों में सोए हुए थे लेकिन जब तेज आवाज आई तो हम लोग घर से बाहर आए, हमने देखा की चारों तरफ पानी ही पानी है और उसमें गाड़ियां बही जा रही हैं. उन्होंने बताया कि इस बाढ़ से कम से कम 15 लाख रुपए की संपत्ति का नुकसान हुआ है क्योंकि बाढ़ में सात-आठ गाड़ियां, दो ट्रेक्टर और कंप्रेसर बह गए, हालांकि इस बाढ़ से किसी की जान नहीं गई है.

मलबा गिरने से  ऋषिकेश-गंगोत्री हाइवे बंद
बता दें कि भारी वारिश की वजह से उत्तराखंड में भी स्थिति गंभीर बनी हुई है. पहाड़ों से मलबा गिरने से ऋषिकेश-गंगोत्री हाइवे बंद हो गया है। राज्य के हालातों के बारे में जानकारी देते हुए उत्तराखंड के डिजास्टर मैनेजमेंट सचिव रंजीत सिन्हा ने बताया कि '' करीब 20 दिन पहले ही हमने सभी जिलों के डीएम और आपदा प्रबंधन के लोगों के साथ मीटिंग की थी, जो भी निर्देश थे, उसकी एक चेक लिस्ट हमने बनाई थी. उन्होंने कहा कि उनमें से ज्यादातर बातों को अमल में लाया जा चुका है और बची हुई चीजों पर अमल किया जा रहा है.  रंजीत सिन्हा ने कहा कि हम हालातों पर नजर बनाए हुए हैं, हमारा कंट्रोल रूम और टीमें लगातार काम कर रही है किसी भी दिक्कत को तुरंत ठीक किया जाएगा.

सीएम धामी ने अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक
वहीं, उत्तराखंड सरकार ने हालात पर नजर रखने के लिए देहरादून में कंट्रोल रूम खोला है, जहां मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।