menu-icon
India Daily
share--v1

'....नहीं कर सकते काम', हाईकोर्ट के जस्टिस रोहित बी देव ने खुली अदालत में दिया इस्तीफा

Justice Rohit Deo Resigned: बॉम्बे हाई कोर्ट के जस्टिस रोहित बी देव ने कल यानी शुक्रवार को खुली अदालत में अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. नागपुर बेंच के जज कोर्ट में इस्तीफा देने के बाद अदालत में माफी भी मांगी है.

auth-image
Purushottam Kumar
'....नहीं कर सकते काम', हाईकोर्ट के जस्टिस रोहित बी देव ने खुली अदालत में दिया इस्तीफा

नई दिल्ली: बॉम्बे हाई कोर्ट के जस्टिस रोहित बी देव ने कल यानी शुक्रवार को खुली अदालत में अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. नागपुर बेंच के जस्टिस ने कोर्ट में इस्तीफा देने के बाद अदालत में माफी भी मांगी है. जस्टिस रोहित बी देव ने अदालत में कहा कि मेरे मन में किसी के लिए कोई कठोर भावना नहीं है, फिर भी अगर किसी को ठेस पहुंची है तो इसके लिए मुझे खेद है. उन्होंने आगे कहा कि मैं आत्मसम्मान के खिलाफ काम नहीं कर सकता हूं.

आपको बता दें, जस्टिस रोहित देव उस बेंच में शामिल थे जिसने दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जीएन साईबाबा को माओवादी लिंक मामले में आरोपमुक्त करते हुए उन्हें बरी कर दिया था. हालांकि, बाद में महाराष्ट्र सरकार ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी, जिसके बाद ने इस मामले को दूसरी बेंच को सौंपने का आदेश दिया था.

ये भी पढ़ें: दिल्ली-एनसीआर में बदला मौसम का मिजाज, उत्तराखंड से लेकर बिहार तक मौसम विभाग का अलर्ट जारी

कौन हैं जस्टिस रोहित देव
जस्टिस रोहित देव नागपुर के रहने वाले हैं. इन्हे 5 जून को साल 2017 में बॉम्बे हाई कोर्ट की पीठ के रूप में नियुक्त किया गया था. साल 1990 में उन्होंने वकालत शुरू की थी और अपने 30 साल के प्रैक्टिस के दौरान कई मामलों को संभाला था. गौरतलब है कि जस्टिस रोहित देव की एक पीठ ने महाराष्ट्र सरकार के एक प्रस्ताव पर भी रोक लगाई थी. आपको बता दें, जस्टिस रोहित देव 2025 में अपने पद से रिटायर होने वाले थे.

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी की ऐतिहासिक पहल, 6 अगस्त को देंगे 508 रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास को हरी झंडी