menu-icon
India Daily
share--v1

Bundi Assembly Seat: यहां अशोक डोगरा से कैसे पार पाएगी कांग्रेस, लगातार तीन बार से अभेद रहा है डोगरा का किला

Bundi: इस सीट पर साल 2018 में भारतीय जनता पार्टी के अशोक डोगरा ने कांग्रेस के हरिमोहन शर्मा को 713 वोटों से हराया था. पिछले 15 सालों से इस सीट पर कांग्रेस का हर एक दांव उल्टा पड़ रहा है.

auth-image
Sagar Bhardwaj
Bundi Assembly Seat: यहां अशोक डोगरा से कैसे पार पाएगी कांग्रेस, लगातार तीन बार से अभेद रहा है डोगरा का किला

नई दिल्ली: इस सीट पर साल 2018 में भारतीय जनता पार्टी के अशोक डोगरा ने कांग्रेस के हरिमोहन शर्मा को 713 वोटों से हराया था. पिछले 15 सालों से इस सीट पर कांग्रेस का हर एक दांव उल्टा पड़ रहा है.

बूंदी जिले की बात करें तो भारत में चौहान वंशीय हाड़ा राजपूतों का राज्य सबसे पहले राजस्थान में बूंदी में स्थापित हुआ था.  यह बूंदी लोकसभा सीट का हिस्सा है जो हाड़ौती इलाके में पड़ता है. बूंदी जिले की तीन विधानसभा सीटों बूंदी, हिंडोली और केशोरायपाटन सीट में से दो पर बीजेपी का और एक सीट पर कांग्रेस का कब्जा है.

बूंदी विधानसभा का जातीय समीकरण

बूंदी विधानसभा क्षेत्र संख्या 186 की बात करें तो यह एक सामान्य सीट है. साल 2011 की जनगणना के अनुसार, बूंदी विधानसभा की कुल जनसंख्या  411533 थी, जिसमें 71.92%  आबादी शहरी और 28.08%  आबादी ग्रामीण है.

वहीं कुल आबादी में से 19.02 फीसद लोग अनुसूचित जाति और 20.03 फीसद लोग अनुसूचित जनजाति के हैं. साल 2013 में इस सीट पर 77.64 फीसदी और 2014 के लोकसभा चुनाव में 64.85 फीसदी मतदान हुआ था.

2013 का चुनाव परिणाम
2013 में बूंदी विधानसभा सीट पर पर अशोक डोगरा ने लगातार दूसरी बार जीत दर्ज की थी. उन्होंने राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष और कांग्रेस प्रत्याशी ममता शर्मा को 27636 वोटों से हराया था. अशोक डोगरा को 91142 और कांग्रेस की ममता शर्मा को 63506 वोट मिले थे.

2008 विधानसभा चुनाव का परिणाम
2008 के विधानसभा चुनाव में भी अशोक डोगरा ने कांग्रेस विधायक ममता शर्मा को 10743 वोटों से पराजित किया था. अशोक डोगरा को 56992 और कांग्रेस उम्मीदवार ममता शर्मा को 46249 वोट मिले थे.

यह भी पढ़ें: भारत में एक ऐसा अनोखा स्टेशन, जहां दो प्लेटफॉर्मों के बीच 2 किमी की दूरी, इसके बारें में जानकर चौंक जाएंगे आप