menu-icon
India Daily
share--v1

बिहार में BJP नेता के पुजारी भाई की गोली मारकर हत्या, आंखें भी फोड़ीं, 6 दिन बाद शव मिलने पर बवाल

मनोज के भाई अशोक कुमार साह भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष हैं. वह पिछले 6 दिनों से लापता था. पुलिस ने बताया कि मनोज उस समय गायब हो गया, जब वह अपने घर से मंदिर जाने के लिए निकला था.

auth-image
Naresh Chaudhary
Bihar News, Crime News, Bihar Crime News, Bihar Murder News, Bihar BJP

हाइलाइट्स

  • छह दिन से लापता था मनोज, घर से मंदिर के लिए निकला था
  • गांव के पास झाड़ियों में मिला शव, लोगों ने कर दिया बवाल

Bihar Crime News: बिहार से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आ रही है. यहां के गोपालगंज जिले में भारतीय जनता पार्टी के नेता के भाई और शिव मंदिर के पुजारी की गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी गई है. इतना ही नहीं आरोपियों ने पुजारी की आंखें फोड़ दी और गुप्तांग भी काट दिया. घटना के बाद इलाके में तनाव की स्थिति है. स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच झड़प हुई, जिसमें दो पुलिस अधिकारियों को चोटें आई हैं. 

छह दिन से लापता था मनोज, घर से मंदिर के लिए निकला था

जानकारी के मुताबिक मृत पुजारी की पहचान मनोज कुमार के रूप में हुई है. मनोज कुमार दानापुर गांव में शिव मंदिर पर पुजारी था. बताया गया है कि मनोज पिछले 6 दिनों से लापता था. मनोज के भाई अशोक कुमार साह भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष हैं. पुलिस ने बताया कि मनोज उस समय गायब हो गया, जब वह अपने घर से मंदिर जाने के लिए निकला था. पुलिस ने जांच शुरू कर दी थी, लेकिन उसे ढूंढ नहीं पाई. 

गांव के पास झाड़ियों में मिला शव, लोगों ने कर दिया बवाल

बताया गया है कि शनिवार को पुलिस को मनोज का शव गांव के पास झाड़ियों में मिला. खबर की जानकारी होने पर स्थानीय लोगों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया. इसके बाद झड़पें शुरू हो गईं. इस दौरान स्थानीय लोगों ने पुलिस कर्मियों पर पथराव किया और हाईवे पर खड़े एक पुलिस वाहन में आग लगा दी.

पुलिस ने लगातार हवाई फायरिंग कर स्थिति को काबू में करने की कोशिश की. गोपालगंज सदर उप-विभागीय पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) प्रांजल मौके पर पहुंचे और स्थानीय लोगों को शांत कराया. मनोज कुमार के एक अन्य भाई सुरेश शाह ने कहा कि उनके परिवार ने मान लिया था कि मनोज कहीं बाहर गया है और जल्द ही वापस आ जाएगा.

मनोज के भाई ने पुलिस प्रशासन पर लगाया लापरवाही का आरोप

सुरेश ने बताया कि जिला प्रशासन के कुछ लोग आए और हमें आश्वासन दिया कि जल्द ही जांच की जाएगी, लेकिन छह दिन बाद अब मेरे भाई का शव मिला है. हमें नहीं पता कि हत्या कैसे और क्यों हुई. एसडीपीओ प्रांजल ने कहा कि गांव में स्थिति नियंत्रण में है और पर्याप्त पुलिस बल बुलाया गया है. उन्होंने कहा कि अब हाईवे शुरू हो गया है.