menu-icon
India Daily
share--v1

'एल्विश को तुरंत गिरफ्तार करो', नशे के सौदागरों पर बरसी मेनका गांधी

नोएडा पुलिस ने वन्यजीव संरक्षण से जुड़े मामले में शुक्रवार को FIR दर्ज की है. मामले में मेनका गांधी के एनजीओ ने एल्विश के उपर आरोप लगाए हैं.

auth-image
Gyanendra Sharma
'एल्विश को तुरंत गिरफ्तार करो', नशे के सौदागरों पर बरसी मेनका गांधी

नई दिल्ली: मशहूर यूट्यूबर एल्विश यादव की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है. बिग बॉस OTT-2 के विनर एल्वि पर सांपों की तस्करी का आरोप लगा है. नोएडा पुलिस ने वन्यजीव संरक्षण से जुड़े मामले में शुक्रवार को FIR दर्ज की है. इस मामले में मेनका गांधी के एनजीओ ने एल्विश के उपर आरोप लगाए हैं. अब खुद मेनका गांधी ने कहा कि एल्विश इस मामले में किंगपन है और उसे गिरफ्तार करना चाहिए.

सभी को सजा मिलनी चाहिए

सांसद मेनका गांधी ने कहा कि सांपों को जंगलों से पकड़कर मार दिया जाता है. सभी लुप्तप्राय प्रजातियों की सूची में हैं. कानून के तहत सात साल की जेल है, जो उन सभी को मिलनी चाहिए.  हमें इसके बारे में इसलिए पता चला क्योंकि इन्फ्लुएंसर एल्विश यादव इसे बढ़ावा दे रहा है. मेनका गांधी ने कहा कि एल्विश को गिरफ्तार करने की जरूरत है, वह पूरे मामला का सरगना है.

6 लोगों के खिलाफ नोएडा में केस दर्ज 

गौरव गुप्ता नाम के एक शख्स ने एल्विश यादव समेत 6 लोगों के खिलाफ नोएडा में केस दर्ज कराया. आरोप है कि एल्विश यादव अपने साथियों के साथ नोएडा में रेव पार्टी कराते थे और इस पार्टी में प्रतिबंधित सांपों का जहर इस्तेमाल किया जाता था. ये भी आरोप है कि पार्टी में विदेशी लड़कियों को बुलाया जाता था. आरोपियों के पास से  5 कोबरा, 2 दुमुंहे, 1 अजगर समेत 9 सांप बरामद किए गए हैं.

सभी आरोपियों को नोएडा सेक्टर 51 के बैंक्वेट हॉल से सभी को गिरफ्तार किया गया है. ये लोगे रेव पार्टी का आयोजन करते थे. पुलिस ने मौके से सांप का जहर बरामद किया है. पुलिस ने गिरफ्तार लोगों से जब पूछताछ की तो उन्होंने बिग बॉस ओटीटी विनर एल्विश यादव का नाम लिया. उन्होंने बताया कि एल्विश सांप की सप्लाई करते थे.

एल्विश की गिरफ्तारी तय

आपको बता दें कि मेनका गांधी वन्य जीव प्रेमी हैं. वे वन्य जीव संरक्षण के लिए काम करती हैं. पुलिस ने रेव पार्टी से जो सांप बरामद किए हैं उनकी खरीद फरोख्त भारत में प्रतिबंधित है. इस मामले में आरोपियों पर जिन धाराओं में एफआईआर दर्ज हुई है, वे गैर जमानती हैं. एल्विश यादव के खिलाफ अगर पुख्ता सबूत हुए तो उनकी गिरफ्तारी तय है.