menu-icon
India Daily
share--v1

लोकसभा में अमित शाह का विपक्ष पर चुन-चुन कर वार, "सिर्फ जनता को गुमराह करने के लिए लाया गया अविश्वास प्रस्ताव"

No Confidence Motion Debate : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सदन के चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि विपक्ष ने अविश्वास प्रस्ताव सिर्फ जनता को गुमराह करने के लिए लाया है.अविश्वास प्रस्ताव एक ऐसा प्रस्ताव है जहां न तो लोगों और न ही सदन को सरकार पर अविश्वास है.

auth-image
Avinash Kumar Singh
लोकसभा में अमित शाह का विपक्ष पर चुन-चुन कर वार, "सिर्फ जनता को गुमराह करने के लिए लाया गया अविश्वास प्रस्ताव"

नई दिल्ली: विपक्ष की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में चर्चा जारी है.केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सदन के चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि " विपक्ष ने अविश्वास प्रस्ताव सिर्फ जनता को गुमराह करने के लिए लाया है.अविश्वास प्रस्ताव एक ऐसा प्रस्ताव है जहां न तो लोगों और न ही सदन को सरकार पर अविश्वास है. मोदी सरकार ने पिछले 9 वर्षों में 50 से ज्यादा ऐतिहासिक फैसले लिए हैं.विपक्ष चर्चा में सरकार के विरोध में कुछ मुद्दे तो रख देते.अल्पमत का तो सवाल ही नहीं है. देश के 60 करोड़ गरीबों को उनके जीवन में नई आशा का संचार अगर किसी ने दिया है तो वह मोदी सरकार ने दिया है. मैं भी देशभर में घूमता हूं. जनता के बीच जाता हूं.जनता के साथ कई जगह से संवाद किया है कहीं पर भी अविश्वास की पतली झलक भी दिखाई नहीं देती है"

यह भी पढ़ें: BJP अध्यक्ष सीपी जोशी ने राहुल गांधी से पूछे 10 तीखे सवाल, राहुल-गहलोत की जोड़ी पर करारा प्रहार

गृह मंत्री अमित शाह ने अपने संबोधन में आगे कहा कि "आजादी के बाद सबसे ज्यादा एक भी छुट्टी लिए बगैर 24 घंटे में से 17 घंटे काम करने वाला कोई प्रधानमंत्री अगर है तो वह नरेंद्र मोदी हैं. आजादी के बाद सबसे ज्यादा किलोमीटर और सबसे ज्यादा दिन प्रवास करने वाला कोई प्रधानमंत्री है तो वह नरेंद्र मोदी हैं. बरसों सरकार चलती है तो दो-चार निर्णय ही ऐसे होते हैं जो युगों तक याद किए जाते हैं. मोदी सरकार के नौ साल में कम से कम 50 फैसले ऐसे हैं जो युगांतकारी हैं"

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर कोई आपत्ति नहीं है.विपक्ष को पूरा अधिकार है अविश्वास प्रस्ताव लेकर आए लेकिन विपक्ष के इस कदम से पार्टियों और गठबंधन के चरित्र उजागर होते हैं. कांग्रेस का मूल सिद्धांत सत्ता में बने रहना है. पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार और परिवारवाद को हटाया है.यूपीए का सबसे भ्रष्ट चरित्र है.एनडीए का चरित्र सिद्धांतों की राजनीति का है.कांग्रेस ने करोड़ों रुपये देकर सरकार बचाई थी.आज पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार भारत छोड़ो,वंशवाद भारत छोड़ो और तुष्टिकरण भारत छोड़ो का नारा दिया है.

यह भी पढ़ें: दिल्ली सरकार ने कृषि भूमि के सर्कल रेट में बढ़ोत्तरी को दी मंजूरी, जानें क्या होंगी नई दरें