menu-icon
India Daily
share--v1

कौन है जयपुर-मुंबई सेंट्रल एक्सप्रेस में गोलीबारी कर ASI समेत चार लोगों की हत्या करने वाला RPF कांस्टेबल चेतन कुमार चौधरी

चेतन कुमार चौधरी ने अपनी ऑटोमेटिक गन से गोली चलाकर आरपीएफ के एएसआई टीका राम मीणा और तीन अन्य यात्रियों की हत्या कर दी.

auth-image
Sagar Bhardwaj
कौन है जयपुर-मुंबई सेंट्रल एक्सप्रेस में गोलीबारी कर ASI समेत चार लोगों की हत्या करने वाला RPF कांस्टेबल चेतन कुमार चौधरी

नई दिल्ली: रेलवे सुरक्षा बल (RPF) के कांस्टेबल चेतन कुमार चौधरी ने सोमवार सुबह लगभग 5 बजे जयपुर-मुंबई एक्सप्रेस में गोलियां चलाकर चार लोगों की हत्या कर दी थी. मारे गए लोगों में आरपीएफ के असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर टीका राम मीणा भी शामिल थे.

आइए जानते हैं कौन है गोली चलाने वाला कांस्टेबल चेतन कुमार चौधरी और उसके गोली चलाने के पीछे क्या रही वजह...

. पश्चिमी रेलवे के इंस्पेक्टर जनरल सह मुख्य सुरक्षा आयुक्त पीसी सिन्हा ने कहा कि चेतन कुमार चौधरी गुस्सैल प्रवृत्ति का इंसान है और वह मानसिक समस्याओं से भी जूझ रहा है. उन्होंने कहा कि वह अभी-अभी छुट्टियां मनाकर घर से लौटा था. पहले उसने अपने सीनियर पर गोली चलाई उसके बाद उसके रास्ते में जो लोग आए उसने उनपर भी गोली चला दी.

. जीआरपी पश्चिम के डीसीपी संदीप भाजीभाकरे ने बताया कि प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि आरोपी मानसिक रूप से अस्वस्थ है.

. खबरों के मुताबिक चेतन कुमार चौधरी ने अपनी ऑटोमेटिक बंदूक से फायरिंग की, जिसमें आरपीएफ के एएसआई समेत तीन लोगों की मौत हो गई.

. पीटीआई के एक अधिकारी के अनुसार, अपने सीनियर की हत्या करने के बाद चेतन दूसरी बोगी में गया और वहां तीन लोगों की हत्या कर दी.  

. इसके बाद आरोपी ने मीरा रोड और दहिसर के बीच में ट्रेन से कूदकर भागने की कोशिश की, लेकिन बाद में राजकीय रेलवे पुलिस (GRP) ने उसे पकड़ लिया और उसके हथियार को भी जब्त कर लिया.

. आरोपी चेतन कुमार चौधरी उत्तर प्रदेश के हाथरस का रहने वाला है और फिलहाल मीरा रोड रेलवे पुलिस की हिरासत में है. वहीं मृतकों के शवों को बोरीवली रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से उतार लिया गया है.

. चेतन कुमार चौधरी को मिलाकर आरपीएफ के चार जवान सोमवार को गुजरात के सूरत स्टेशन से जयपुर-मुंबई सेंट्रल एक्सप्रेस को एस्कॉर्ट कर रहे थे.

. इससे पिछले दिन इन्हीं चार लोगों की टीम ने सूरत स्टेशन तक दादर-पोरबंदर सौराष्ट्र एक्सप्रेस को एस्कॉर्ट किया था. वापस लौटते समय ये चारों जयपुर-मुंबई सेंट्रल एक्सप्रेस को एस्कॉर्ट कर रहे थे.

. पश्चिमी रेलवे के पीआरओ सुमित ठाकुर ने कहा कि आरोपी पुलिसकर्मी लोअर परेल आरपीएफ पोस्ट से जुड़ा हुआ था जबकि एएसआई टीका राम मीणा दादर आरपीएफ पोस्ट से जुड़े हुए थे.

. ठाकुर ने कहा कि मीरा रोड पर पकड़े जाने से पहले चेतन ने दहिसर स्टेशन के पास अलार्म चेन को खींचा और कूदकर भागने की कोशिश की थी.