share--v1

हिरासत में लिए गए 97 हजार भारतीय, अमेरिका में अवैध तरीके से कर रहे थे घुसपैठ

लगातार भारतीयों का विदेशों में रहने का क्रेज बढ़ता जा रहा है, जिसमें से अमेरिका और कनाडा उच्च श्रेणी पर है. लेकिन इसके लिए कुछ लोग अवैध रास्ता अपना रहे है, जो सोचने वाली बात है.

auth-image
Antriksh Singh

अभी कुछ दिनों पहले एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका भारतीय प्रवासियों की पहली पसंद के रूप में उच्च स्थान पर आया था. लेकिन यूएस कस्टम्स एंड बॉर्डर प्रोटेक्शन (यूसीबीपी) के ताजा आकंडों के अनुसार अक्टूबर 2022 से सितंबर 2023 के बीच अवैध रूप से अमेरिका में प्रवेश करते हुए 96,917 भारतीयों को पकड़ा गया है. 
रिपोर्ट के अनुसार 30,010 भारतीयों  को कनाडा और 4,770 भारतीयों को मैक्सिको की सीमा  से पकड़ा गया है. वहीं बाकियों को दूसरी जगह से पकड़ा गया है. अमेरिकी एजेंसियों ने यह आंकड़ा उस वक्त जारी किया है जब गुजरात पुलिस अवैध तरीकों से अमेरिका में प्रवेश कर रहे भारतीयों की जांच कर रही है. कुछ वक्त पहले अमेरिका गए लोगों में से 9 भारतीय भी लापता हो गए थे, उनका मामला भी हाईकोर्ट में लंबित है.

क्यों जा रहे भारतीय विदेश

कुछ समय से लगातार भारतीयों का  विदेश में रहने का क्रेज बढ़ा रहा है. चाहे वह अमेरिका हो या अन्य देश. कुछ लोग अच्छी पढ़ाई करके विदेश जा रहे है तो कुछ मजदूरी करने के लिए विदेश जाते है. अपने देश से दुसरे देश को इतनी मात्रा में लोगों क जाना एक चिंता का विषय है. वहां लोग अच्छे जीवन की तलाश और नौकरी के लिए जा रहे है. इस पर सरकार को सोचने की जरूरत है.रिपोर्ट में लिखा गया है कि अवैध रूप से भारत से अमेरिका और कनाडा जाने वालों में गुजरात और पंजाब के लोग शामिल है.

पिछले वर्ष की तुलना में बढ़ी अमेरिका में अवैध घुसपैठ

वहीं कुछ समय पहले भी एक रिपोर्ट में बताया गया था कि पिछले अक्टूबर से सितंबर तक भारत से लगभग 42,000 लोगों ने अवैध रूप से अमेरिका की दक्षिणी सीमा पार की है. ये संख्या पिछले वर्ष की तुलना में दोगुनी से भी ज्यादा है. इस साल सितंबर में 8,076 भारतीयों को विभिन्न मार्गों से अमेरिका में अवैध रूप से पवेश करने के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया.

ये भी पढ़े: Us Air Strike in Syria: अमेरिका की सीरिया में ईरानी ठिकानों पर फिर से एयरस्ट्राइक, कई लोगों की मौत

अस्थायी रूप से शरण मिलती है

गुजरात पुलिस और केंद्रीय एजेंसियों के मताबिक अमेरिका की सीमा पर पकडें गए लोग अक्सर आत्मसमर्पण की अपील करते हैं और वहां अस्थायी रूप से रहने की व्यवस्था करते है. ऐसे लोगों को अमेरिका में वर्ग परमिट और एक सामजिक सुरक्षा कार्ड भी दिया जाता है. दूसरी और उनका मामला अदालत में चल रहा होता है लेकिन उनको अमेरिका में काम करने की परमिशन मिल जाताी है.

First Published : 09 November 2023, 12:41 PM IST