menu-icon
India Daily
share--v1

1000 करोड़ के पॉन्जी स्कैम में फंसे गोविंदा, जल्द हो सकती है पूछताछ; कहीं आपका तो नहीं है इस स्कीम में निवेश?

अधिकारियों का कहना है कि गोविंदा ने अपने कुछ वीडियोज में Solar Techno Alliance (STA) नामक कंपनी का प्रचार किया है जो एक पॉन्जी स्कीम चलाकर लोगों को फंसाने का काम कर रही थी.

auth-image
Sagar Bhardwaj
1000 करोड़ के पॉन्जी स्कैम में फंसे गोविंदा, जल्द हो सकती है पूछताछ; कहीं आपका तो नहीं है इस स्कीम में निवेश?

Govinda:  बॉलीवुड एक्टर व डांसर गोविंदा का परिवार नई मुश्किल में फंसता दिखाई दे रहा है. दरअसल, गोविंदा का नाम 1000 करोड़ रुपए के पैन इंडिया ऑनलाइन पॉन्जी स्कैम में आया है. बताया जा रहा है कि अब 'द ओडिशा इकोनॉमिक ऑफेंसिस विंग' उनसे पूछताछ करेगी. गोविंदा के पास नोटिस भेजा गया है. उनसे जल्द पूछताछ हो सकती है.

अधिकारियों का कहना है कि गोविंदा ने अपने कुछ वीडियोज में Solar Techno Alliance (STA) नामक कंपनी का प्रचार किया है. उन्होंने इस कंपनी पर कुछ प्रमोशनल वीडियोज बनाए हैं.

डीएसपी ईओडब्ल्यू शाश्मिता साहू ने इस केस पर डिटेल्स भी शेयर की हैं. उन्होंने कहा कि हाई कोर्ट से मिली जानकारी के बाद हमने जांच शुरू कर दी है.

क्या है यह पॉन्जी स्कीम


दरअसल, STA कंपनी ने खुद का एक टोकन लॉन्च किया है, जिसे एसटीए टोकन नाम दिया गया है. इसे भद्रक पॉन्जी स्कीम या मल्टी लेवल मार्केटिंग के रूप में प्रमोट किया जा रहा है. यह एक चेन सिस्टम के रूप में काम कर रहा है. जैसे-जैसे लोग इससे जुड़ते चले जाते हैं उन्हें रिटर्न्स मिलते रहते हैं. ईओडब्ल्यू भुवनेश्वर ने इस मामले की शुरुआती जांच में आरोपों को सही पाया है.

भद्रक के निरोध कुमार दास STA के ओडिशा प्रमुख है. उन्होंने खुद का एक ऑफिस भी बनाया हुआ है जिससे 5-6 हजार लोग जुड़े हुए हैं. दास लोगों को एसटीए से जुड़ने के लिए कहते थे और इसको लेकर वे लगातार मीटिंग भी कर रहे थे. लेकिन कंपनी के प्रमुख गुरतेज सिंह सिद्धू और निरोध दास को 7 अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया. एसटीए के महत्वपूर्ण सदस्य रत्नाकर पलाई, जिनके नीचे बड़ी संख्या में लोग जुड़े हुए हैं, इन्हें भी 16 अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया था.

शाश्मिता ने कहा कि The Bureau of Immigration ने एक लुकाउट जारी किया है जिसमें डेविड जेज का भी नाम है. डेविड जेज 32 साल के हैं और हंगरी के नागरिक हैं. ईओडब्ल्यू को इस स्कैम से एक डच निवासी के जुड़े होने का भी पता चला है.

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को बड़े रिटर्न का लालच देकर इस स्कीम से जोड़ा गया और उन्हें क्रिप्टोकरेंसी में इंवेस्ट करने के लिए प्रेरित किया गया.

लोगों को लुभाने के लिए किया था मेगा इवेंट, चीफ गेस्ट के तौर पर शामिल हुए थे गोविंदा


सूत्रों से पता चला कि लोगों को कंपनी में निवेश के लिए प्रेरित करने के लिए कंपनी ने एक बड़ा इवेंट किया था जिसमें उसने बॉलीवुड एक्टर गोविंदा को चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाया था. यह इवेंट 30 जुलाई 2023 को हुआ था.

शाश्मिता ने कहा कि अब गोविंदा से इस मामले में पूछताछ की जाएगी कि इवेंट  शामिल होने के लिए किस शख्स ने उनसे संपर्क किया था. इसके अलावा उनसे और भी जानकारी जुटाने की कोशिश की जाएगी.

यूपी, दिल्ली, पंजाब के लोगों का लाखों रुपए का निवेश

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस स्कैम में अब तक लाखों रुपए का निवेश हो चुका है. हरियाणा, बिहार, दिल्ली, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब और झारखंड से कई  लोगों ने इस स्कैम में निवेश किया है.

यह भी पढ़ें: Arti Singh: 'मैं अकेली हूं..' पैनिक अटैक से जूझ रही हैं कॉमेडियन कृष्णा की बहन आरती, अदाकारा ने पोस्ट के जरिए किया खुलासा