menu-icon
India Daily
share--v1

अब तक 8 बार उम्मीदवार बदल चुकी है सपा, रणनीति या मजबूरी, किस उलझन में हैं अखिलेश यादव?

सपा अब तक 8 लोकसभा उम्मीदवार बदल चुके हैं. कई सीट से दो से तीन बार कैंडिडेट्स बदले गए. इस बात की चर्चा है कि अभी और उम्मीदवार बदले जाएंगे.

auth-image
India Daily Live
Akhilesh Yadav

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी कंफ्यूज है. पार्टी ने अब तक ऐलान करने के बाद अपने कई उम्मीदवारों को बदल चुकी है. सपा में कब किसका टिकट कट जाए पता नहीं. सपा बार-बार उम्मीदवार बदल रहा है. मेरठ सीट से कई बार टिकट बदला गया. बदायूं और मेरठ में तीन बार प्रत्याशी बदले जा चुके हैं. 

सपा 30 जनवरी को उम्मीदवारों की पहली सूची घोषित करने वाली यूपी की पहली प्रमुख पार्टी पहले ही बदायूं, बागपत, मिश्रिख, मोरादाबाद, बिजनौर, गौतम बुद्ध नगर और मेरठ सीटों पर उम्मीदवारों को बदल चुकी है. सपा ने बदायूं सीट पर पहले धर्मेंद्र यादव को प्रत्याशी बनाया था लेकिन कुछ दिन बाद ही उनका टिकट काट दिया. अब शिवपाल यादव के बेटे आदित्य यादव को उम्मीदवार बनाकर मैदान में उतारा है. 

ऐसे ही मुरादाबाद सीट से पहले सांसद डॉ. एसटी हसन को प्रत्याशी बनाया गया. नामांकन भरने के अंतिम दिन रुचि वीरा को टिकट दे दिया. एसटी हसन का टिकट काट दिया गया. इस सीट पर 2019 में सपा के टिकट पर डॉ. एसटी हसन सांसद चुने गए थे. बागपत से 2 बार कैंडिडेट बदले गए. पहले मनोज चौधरी फिर अब अमरपाल शर्मा. 

मेरठ सीट से पहले सपा ने भानू प्रताप सिंह को प्रत्याशी बनाया था. विरोध के बाद अतुल प्रधान को मैदान में उतार दिया लेकिन कुछ दिन बाद ही सपा ने अतुल प्रधान का टिकट भी काट दिया. अब यहां से संगीता वर्मा को मैदान में उतारा गया है. नोएडा सीट से भी तीन बार उम्मीदवार बदला. पहले महेंद्र नागर फिर राहलु अवाना फिर अंत में महेंद्र नागर को कैंडिडेट बनाया गया. बताया जा रहा है कि अभी कुछ और सीटों से सपा अपने कैंडिडेट्स बदल सकता है.