menu-icon
India Daily
share--v1

'बिगड़ा हुआ शहजादा, चोरों की सरकार...', अब किस पर भड़क गईं कंगना रनौत

कंगना ने कहा कांग्रेस वाले कहते हैं कि हिमाचल की लड़कियों के रेट क्या है. इन चंपुओं को पहाड़ी लड़की का एक थप्पड़ पड़ा तो ये लड़कियों के तो छोड़ो सब्जियों के रेट लेना भी भूल जाएंगे.

auth-image
India Daily Live
 Kangana Ranaut
Courtesy: x

भारतीय जनता पार्टी की मंडी लोकसभा सीट से उम्मीदवार कंगना रनौत जोर-शोर से प्रचार में लगी हुई हैं. मंडी के थाची में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कंगना ने प्रदेश के सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू और इंडी गठबंधन के नेता अरविंद केजरीवाल पर करारा प्रहार किया. कंगना ने कहा कि एक बिगड़ा हुआ शहजादा दिल्ली में बैठा हुआ है और एक यहां भी है. ये चोरों की सरकार को जड़ से उखाड़ के फेंकना है. कंगना ने आगे कहा कि यह हमारा सौभाग्य है, जैसे-तैसे हमें 1 जून का मौका मिला है. हमें इसे हाथ से नहीं जाने देना है.

क्या भद्दा, क्या बेशर्म चरित्र निकलकर आया है
प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू पर कंगना ने एक के बाद एक तीखे प्रहार किए. कंगना ने कहा ये लोग विधानसभा में हमारे नेताओं को उठाकर फेंकते हैं उनके लिए कमांडो बुलवाते हैं. प्रदेश के मुख्यमंत्री सुक्खू इस वक्त घमंड में चूर हैं. एक्ट्रेस कंगना ने आगे कहा कि जब किसी इंसान का चरित्र जानना हो तो उसके हाथों में सत्ता दे दो. ये जो सुक्खू है क्या भद्दा और क्या बेशर्म चरित्र निकलकर आया है.

कांग्रेस नेता कहते हैं कि पहाड़ी लड़कियों के रेट क्या हैं
कंगना यहीं नहीं रुकीं, उन्होंने आगे कहा कि ये (सुक्खू) अपनी ही पार्टी के नेताओं को काला नाग कहकर बुलाते हैं. हिमाचल प्रदेश में ये जो अभद्र और घमंड की भाषा बोली जा रही है. ये बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

बीजेपी कैंडिडेट ने आगे कहा कि कांग्रेस वाले कहते हैं कि हिमाचल की लड़कियों के रेट क्या है. मैं इनसे कहना चाहती हूं कि पहाड़ी लड़कियों में जितना दम है...इन चंपुओं को पहाड़ी लड़की का एक थप्पड़ पड़ा तो ये लड़कियों के तो छोड़ो सब्जियों के रेट लेना भी भूल जाएंगे.

मंडी में दो दिग्गजों के बीच दमदार मुकाबला
मंडी का चुनाव इस बार बेहद दिलचस्प होने जा रहा है. एक तरफ हिमाचल के 6 बार के मुख्यमंत्री रहे वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह हैं और दूसरी तरफ बॉलीवुड की दमदार एक्ट्रेस जिन्होंने अपनी दमदार एक्टिंग के चलते एक अलग पहचान बनाई है. मंडी सीट पर 1 जून को मतदान होगा.