share--v1

महिलाओं के खिलाफ बदजुबानी जारी, 'ओ स्त्री कांग्रेस में मत आना!'

कांग्रेस के नेता कुछ दिनों से महिलाओं के खिलाफ ऐसे बयान दे रहे हैं, जिन्हें सुनकर पार्टी के आलाकमान तौबा कर ले रहे हैं. कंगना रनौत से लेकर हेमा मालिनी तक, कांग्रेस नेताओं ने किसी को भी नहीं छोड़ा है. अब तो सोशल मीडिया पर लोग बोल रहे हैं, ओ स्त्री कांग्रेस में मत आना. क्यों, हम आपको विस्तार से बताते हैं.

auth-image
India Daily Live
Courtesy: सोशल मीडिया

सोचिए आप एक अभिनेत्री हैं, अचानक आप चुनाव में उतरें और विपक्षी नेता की ओर से कह दिया जाए कि मंडी में आपका क्या भाव चल रहा है. ऐसा कहने वाली अगर महिला हो. अगर उसके समर्थन में पुरुष साथी भी खुलकर आने लगें और ऐसे ही बयान देनें लगें. उस पार्टी में क्या महिलाएं सहज रह पाएंगी? वह भी तब जब पार्टी की कमान परोक्ष रूप से दो महिलाओं के हाथ में हो तब. आप यही कहेंगे न 'ओ स्त्री, यहां मत आना.' 

कांग्रेस का हाल बीते कुछ दिनों से ऐसा ही हो गया है. कांग्रेस के कुछ नेताओं ने महिलाओं पर ऐसे शर्मनाक बयान दिए हैं, जिन्हें सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे. कांग्रेस के नेताओं की महिलाओं पर बदजुबानी, अब खुलकर सामने आ रही है. पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की ओर से कोई ऐसा कदम नहीं उठाया जा रहा है, जिसे संतोषजनक कहा जा सके. खुद पढ़िए, कब-कब कांग्रेस के नेताओं से जुबान फिसली और कब-कब पार्टी की उनके बयानों की वजह से किरकिरी हुई.

मंडी में क्या चल रहा है भाव, जब सुप्रिया के ट्वीट पर मचा हंगामा
कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत की एक बोल्ड तस्वीर पोस्ट करते हुए X पर कहा था, 'मंडी में क्या भाव चल रहा है.' उनके ट्वीट पर जमकर हंगामा हुआ था. लोगों ने एक स्वर से सुप्रिया के बयान की निंदा की थी. विवाद बढ़ने पर सुप्रिया ने अपना पोस्ट डिलीट कर दिया था. कंगना ने बेहद शालीन शब्दों में इस पर आपत्ति जताई थी.

'कोई हेमा मालिनी तो हैं नहीं जो चाटने के लिए बनाते हैं'
कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बेहद आपत्तिजनक बयान हेमा मालिनी पर दिया है. उन्होंने हरियाणा के कुरुक्षेत्र में कहा, 'हम एमपी और एमएलए क्यों बनाते हैं? ताकि वो हमारी आवाज़ उठा सकें, हमारी बात मनवायें, इसीलिए बनाते होंगे. कोई हेमा मालिनी तो है नहीं, जो चाटने के लिए बनाते हैं?' उनके इस बयान पर बीजेपी ने जमकर खरी खोटी सुनाई है. लोग कांग्रेसी नेताओं को ताना दे रहे हैं. लोग रणदीप के खिलाफ एक्शन की मांग कर रहे हैं.

'मंडी में सही रेट मिलता है'
कांग्रेस के मुखपत्र कहे जाने वाले नेशनल हेराल्ड की संपादक मृणाल पांडे ने भी बेहद विवादित टिप्पणी की थी. उन्होंने सुप्रिया श्रीनेत के बयान पर कहा था 'शायद इसलिए कि मंडी में सही रेट मिलता है.' उन्हें विपक्ष ने जमकर खरी खोटी सुनाई थी.

कमलनाथ तो महिला को बुला चुके हैं आइटम 
कमलनाथ ने साल 2020 में एक चुनावी रैली के दौरान शिवराज सरकार में मंत्री इमरती देवी को आइटम कहकर बुलाया था. उन्होंने इमरती देवी के बारे में कहा था, 'आप लोग मेरे से ज्यादा उसको पहचानते हैं. आप लोगों को तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था. वह क्या आइटम है.'

प्रियंका चतुर्वेदी ने अपमान पर छोड़ी थी कांग्रेस
कभी कांग्रेस की धाकड़ प्रवक्ता रहीं प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस से 'अपमान' की वजह से कन्नी काट लिया था. प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा था कांग्रेस में मेहनत करने वाले लोगों को जगह नहीं मिल रही है, मुझे अपमानित करने वाले नेताओं को जगह मिल रही है.' उन्होंने कांग्रेस छोड़कर शिवसेना का हाथ थाम लिया था.

'ओ स्त्री, कांग्रेस में तुम मत आना!'
ये हम नहीं, सोशल मीडिया पर लोग कह रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी के कई नेता यह दोहरा चुके हैं. उनका कहना है कि कांग्रेस नेता महिलाओं का जानबूझकर अपमान करते हैं. कांग्रेस नेताओं के बयान की वजह से पार्टी की भी किरकिरी हो रही है. प्रियंका गांधी और सोनिया गांधी जैसी नेताओं के होते हुए भी नेता बेलगाम होकर बयान दे रहे हैं.

Also Read