share--v1

वोट के लिए कुछ भी करेगा? चुनाव में दिखे सियासत के 10 रंग; टिकट कटने पर नेताओं ने क्या कहा

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव 2024 के लिए बीजेपी अब तक 405 उम्मीदवारों का नाम घोषित कर चुकी है. साथ ही 101 वर्तमान सांसदों का टिकट काट चुकी है. टिकट कटने पर सांसदों ने क्या कहा और क्या किया यहां पढ़ें.

auth-image
Pankaj Soni

Lok Sabha Elections 2024 : लोकसभा चुनाव 2024 में बीजेपी 400 के पार सीट जीतने का लक्ष्य लेकर चल रही है. इसके लिए पार्टी ने अपनी रणनीति में कई तरह के बदलाव किए हैं. 2024 के आम चुनाव में बीजेपी ने अब तक 101 वर्तमान सांसदों का टिकट काटकर नए चेहरों को मौका दिया है. इन सांसदों में कई ने टिकट कटने के बाद प्रतिक्रिया दी तो बीजेपी के कई सांसदों ने टिकट कचने के बाद प्रतिक्रया दी. आइए आपको टिकट कटने पर 10 बीजेपी सांसदों की प्रतिक्रिया के बारे में बताते हैं. 
 

कृष्णानगर का क्लिनिक मेरा इंतजार कर रहा है: डॉ. हर्षवर्धन

दो मार्च को बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए 195 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की. सबसे ज्यादा टिकट दिल्ली कें सांसदों के कटे. यहां पांच सीटों पर प्रत्याशी घोषित किए गए हैं और चार उम्मीदवार नए हैं. चांदी चौक से सांसद डॉक्टर हर्षवर्धन का टिकट काट दिया गया. उसके बाद डॉ हर्षवधर्न ने सोशल मीडिया पर लिखा,  'अब वह राजनीति से संन्यास ले रहे हैं'. उन्होंने लिखा, 'मैं आगे बढ़ता हूं, मैं वास्तव में इंतजार नहीं कर सकता. मुझे वादे निभाने हैं. और सोने से पहले मीलों चलना है. मैं जानता हूं कि आपका आशीर्वाद हमेशा मेरे साथ रहेगा. कृष्णा नगर में मेरा ईएनटी क्लिनिक भी मेरी वापसी का इंतजार कर रहा है.

बीजेपी ने टिकट कटा तो मंच पर रोने लगीं संघमित्रा मौर्य 

उत्तर प्रदेश की बदायूं सीट से बीजेपी ने मौजूदा सांसद संघमित्रा मौर्य का टिकट काट दिया. यहां से दुर्विजय शाक्य को टिकट दे दिया. इसके बाद संघमित्रा का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आने से पहले एक चुनावी सभा के मंच पर बैठी रो रही हैं. दावा किया जा रहा है कि स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी संघमित्रा मौर्य टिकट कटने से आहत हैं. संघमित्रा के रोने का जो वीडियो वायरल है उसमें योगी सरकार में मंत्री गुलाबो देवी भी नजर आ रही हैं.

बीजेपी ने अजय निषाद का टिकट काटा तो कांग्रेस में पहुंचे

 बिहार में बीजेपी ने मुजफ्फरपुर के मौजूदा सांसद अजय निषाद का टिकट काटा तो वह कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. टिकट कटने पर अजय निषाद ने कहा, 'मेरा टिकट काटा गया और मुझे बताया भी नहीं गया.' मुझे TV से टिकट कटने के बारे में जानकारी मिली. मुझे भी किसी का अहंकार तोड़ना है और अपना खोया हुआ सम्मान वापस लाना है.

'आखिर मेरा गुनाह क्या था?' राहुल कस्वां ने बीजेपी से किया सवाल

राजस्थान की चूरू लोकसभा सीट में मौजूदा सांसद राहुल कास्वां का बीजेपी ने टिकट काट दिया. उनकी जगह पर नए चेहरे देवेंद्र झाझड़िया को टिकट दिया. राहुल कस्वां ने सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया जाहिर की. कस्वां ने अपने X अकाउंट पर लिखा, "आखिर मेरा गुनाह क्या था?"

पीलीभीत से टिकट कटने पर मौन हैं वरुण गांधी

पीलीभीत लोकसभा सीट से वर्तमान सांसद वरुण गांधी की बीजेपी ने टिकट काट दी है. उनकी जगह पर योगी सरकार के मंत्री जितिन प्रसाद को टिकट दिया है. इसके बाद वरुण गांधी ने पार्टी से कोई बगावत नहीं की और न ही पार्टी विरोधी बयान दिया. उनकी मां मेनका गांधी ने मीडिया के सवाल पर कहा कि वरुण की बात आप उनसे ही पूछिए. आपको बता दें कि वरुण गांधी बीजेपी सरकार और पीएम मोदी को घेरने के लिए बयानबाजी करते रहे हैं, जिसके चलते उनका टिकट कटा है, लेकिन अब मौन हैं. 

उन्मेश पाटिल का टिकट कटा तो शिवसेना  (UBT) में हुए शामिल

महाराष्ट्र में जलगांव से बीजेपी के मौजूदा सांसद उन्मेश पाटिल का पार्टी ने टिकट काटा तो उन्होंने उद्धव ठाकरे की पार्टी शिवसेना (UBT) का हाथ थाम लिया. इसेस महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. उन्मेश पाटिल अपना टिकट कटने से नाराज थे. जलगांव से बीजेपी ने स्मिता वाघ को उम्मीदवार बनाया है. कहा जा रहा है कि पाटिल को जलगांव सीट के लिए शिवसेना UBT पार्टी के उम्मीदवार के रूप में घोषित किया जा सकता है. उन्हें महा विकास अघाड़ी के रूप में प्रतिष्ठित जलगांव निर्वाचन क्षेत्र में मैदान में उतारा जा सकता है. 


गौतम गंभीर ने की राजनीति छोड़ने की पेशकश, ट्वीट में क्या लिखा

पूर्व क्रिकेटर और लोकसभा सांसद गौतम गंभीर ने गंभीर ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर 2024 में लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने की बात कही थी. गंभीर के इस कदम से पहले चर्चा शुरू हो गई थी कि इस बार गौतम गंभीर का टिकट भी काटा जा सकता है. गौतम गंभीर पूर्वी दिल्ली से ही बीजेपी के लोकसभा सांसद हैं. गंभीर एक रुपए में खाना वाली 'जन रसोई' और दिल्ली में कूड़े के पहाड़ को खत्म करने के प्रयासों जैसे कई कामों से सुर्खियों में रहे हैं.

वीके सिंह ने टिकट कटने से पहले छोड़ा मैदान

लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की लिस्ट आने से पहले गाजियाबाद के सांसद वीके सिंह ने अचानक एक्स पर पोस्ट लिखकर 2024 में चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान कर दिया. हालांकि, उस समय तक भाजपा ने अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान नहीं किया था. वीके सिंह को गाजियाबाद से पहले चरण में उम्मीदवार न घोषित किए जाने के बाद बेचैनी बढ़ी थी. माना जा रहा है कि उन्हें उसी समय टिकट न मिलने का संकेत मिला था. इसके बाद ही उन्होंने चुनाव न लड़ने की घोषणा कर दी.

सत्यदेव पचौरी ने चुनाव न लड़ने की जताई ईच्छा, कटा नाम

कानपुर के सांसद सत्यदेव पचौरी ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा को एक पत्र लिखकर चुनाव नहीं लड़ने का आग्रह किया. इस पत्र की एक प्रति को उन्होंने अपने एक्स हैंडल पर पोस्ट किया. सत्यदेव पचौरी ने कहा कि वह चुनाव लड़ने के इच्छुक नहीं हैं, लेकिन पार्टी की सेवा करना जारी रखेंगे. उन्होंने पार्टी अध्यक्ष से 2024 के चुनावों के लिए उनके नाम पर विचार न करने को कहा है. वहीं, देर रात बीजेपी की ओर से जारी पांचवीं लिस्ट में सत्यदेव पचौरी की जगह पर  रमेश अवस्थी को बीजेपी ने टिकट दे दिया.

Also Read