menu-icon
India Daily
share--v1

'नवीन पटनायक की सरकार, झोले की सरकार...', ओडिशा के CM पर ऐसा क्यों बोले अमित शाह

Lok Sabha Election 2024: उड़ीसा में लोकसभा चुनाव 2024 के प्रचार के लिए गृहमंत्री अमित शाह ढेंकानाल पहुंचे. यहां उन्होंने BJP के लिए वोट अपील करते हुए नवीन पटनायक सरकार को निशाने पर लिया और उसे झोले वाली सरकार बताया.

auth-image
India Daily Live
Amit Shah
Courtesy: BJP social media

Lok Sabha Election 2024: लोकतंत्र के उत्सव में पांच चरणों की वोटिंग हो गई है. अब 25 मई और 1 जून के आखिरी दो चरणों की वोटिंग होनी है. इससे पहले सियासी दल प्रचार में पूरी ताकत झोंक रहे हैं. छठवें चरण में ओडिशा 6 सीटों के लिए मतदान होना है. इसी कारण अब बीजेपी के बड़े नेता एक्टिव हो गए हैं. आज यहां प्रचार करने के लिए गृहमंत्री अमित शाह ने ढेंकानाल में एक सभा की. इस दौरान उन्होंने नवीन पटनायक सरकार पर निशाना साधते हुए सरकार को झोले की सरकार बता दिया.

गृहमंत्री अमित शाह ढेंकानाल में आयोजित भारतीय जनता पार्टी की जनसभा को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक पर जमकर निशाना साधा. अमित शाह ने कहा कि चाव केंद्र से आ रहा लेकिन नवीन बाबू इसे कहते हैं की हम भेज रहे हैं.

'पटनायक सरकार, झोले की सरकार'

अमित शाह ने कहा कि मोदी जी, आपको पांच किलो अनाज भेज रहे हैं, लेकिन नवीन बाबू कहते हैं कि ये पांच किलो चावल हम भेज रहे हैं. अरे, नवीन बाबू आप चावल नहीं भेज रहे हो, इसके ऊपर जो झोला होता है, वो सिर्फ नवीन बाबू देते हैं. ये चावल वाली सरकार नहीं, झोले वाली सरकार है.

पीछे छूटा ओडिशा

गृहमंत्री अमित शाह ने ढेंकानाल में पटनायक सरकार को और निशाने पर लेते हुए कहा कि नवीन बाबू ने 25 वर्षों में ओडिशा को पीछे छोड़ दिया. ओडिशा के 25 लाख लोगों के पास आज भी घर नहीं है, यहां के करीब 26 लाख घरों में पीने का पानी नहीं हैं. आज भाजपा सरकार बना दो, दो साल में हर व्यक्ति को घर और पीने का पानी देने का काम भाजपा करेगी.

बीजू जनता दल पर हमला

जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि नवीन बाबू ने ओडिशा का अपमान किया है. अब उत्कल भूमि पर शासन यहां का भूमि पुत्र ही करेगा. उन्होंने जगन्नाथ यात्रा को बंद करने की पूरी साजिश की गई थी. ओडिशा में सुंदर लोकेशन, मेहनत करने वाले लोग सबकुछ है. बाकि काम करने वाला मुख्यमंत्री नहीं है.

अब बचे दो चरण

बता दें छठवें और सातवें चरण में क्रमश: 57-57 सीटें के लिए वोट पड़ेंगे. छठवें चरण के लिए मतदान 25 मई को है. इसी चरण में उड़ीसा की 6 सीटों पर मतदान है. इसके बाद सातवें चरण के मतदान के लिए लिए 1 जून को होगा. इसी के साथ देश की 543 सीटों पर वोटिंग पूरी हो जाएगी. इसके बाद 4 जून का जनता का फैसला सबके सामने आ जाएगा.